04tariqइस्लामाबाद, 4 अगस्त. मुंबई में हुए 26/11 के हमले को लेकर पाकिस्तान की फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एफआईए) के डीजी रहे तारिक खोसा ने अपने ही देश के स्टैंड पर सवाल खडे कर दिए हैं। खोसा ने कहा है कि सरकार को इस कडवे सच को मान लेना चाहिए कि मुंबई में 26/11 के हमले की साजिश पाक की सरजमीं पर ही रची गई थी।

उन्होंने कहा कि शुरूआती सबूत में पाकिस्तान की साफ तौर पर गलती सामने आ रही है। इस हमले मामले में जांचकर्ता रहे तारिक खोसा ने लिखा है कि वह हमला न सिर्फ पाकिस्तान से प्रायोजित था बल्कि आतंकियों को ट्रेनिंग भी देश में ही हुई थी। खोसा की अगुवाई में पाकिस्तान सरकार ने इस हमले की जांच करवाई थी। पाकिस्तान के प्रतिष्ठित अखबार डॉन में प्रकाशित लेख में खोसा ने लिखा, एक मुल्क के तौर पर अब हमें कडवे सच का सामना करना चाहिए और अपनी जमीन से आतंकियों का खात्मा करना चाहिए। खोसा ने कहा कि उनके पास सात फैक्ट्स हैं, जो उनके दावे की पुष्टि करते हैं। इसलिए पाकिस्तान को मुंबई हमले की ट्रायल में तेजी लानी चाहिए और पीडितों को न्याय दिलाना चाहिए। खोसा ने कहा कि जांच में साफ है कि सभी आतंकी पाकिस्तान से थे। हमले की साजिश और अंजाम देने के लिए लॉजिस्टिक सेंटर सिंध में बनाया गया था, जबकि मास्टरमाइंड कराची में बैठकर आतंकियों को निर्देश दे रहे थे।

Related Posts:

रोजगार दिलाने वाली हो शिक्षा:गुप्ता
जन्मदिन की पूर्व संध्या पर मुलायम ने काटा केक, रहमान ने बांधा समा
आरक्षण समाप्त करने का सवाल ही नहीं : जेटली
केजरीवाल कार पूूल करके और कपिल मिश्रा मेट्रो से पहुंचे ऑफिस
इंसेफ्लाइटिस रोकने में केन्द्र सरकार राज्यो का सहयोग करने के लिये कृतसंकल्प : अन...
कैमरून ट्रेन दुर्घटना : मृतकों की संख्या बढ़कर 55 हुई