कराची, 12 सितंबर. पाकिस्तान के कराची शहर में कल रात एक कपडा फैक्टरी में लगी आग में 240 और लाहौर में एक जूता फैक्टरी में भड़की आग में कम से कम 25 लोगों की मौत हो गई.

राहत कर्मियों ने मलवे से 240 शवों को बाहर निकाला है. उन्होंने कहा कि राहत कार्य अभी भी जारी है और मृतकों की संख्या में बढोत्तरी से इंकार नहीं किया जा सकता है. राहत एवं बचाव दल अभी भी फैक्टरी के सभी हिस्सों तक पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं. इससे पहले कराची के आयुक्त रोशन अली शेख ने कहा था कि मृतकों की संख्या बढकर 191 तक पहुंच गई है और दमकल अभी भी आग पर काबू पाने में लगे हुए हैं. फैक्टरी के तहखाने से 12 से अधिक लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं.

मृतकों के आंकडों के लिहाज से देखा जाए तो यह कराची की बहुत बडी आग की घटना है. इस दुर्घटना में बुरी तरह झुलसे लोगों ने बाद में अस्पताल में बताया कि फैक्टरी का दरवाजा बंद था और सभी लोग भीतर ही फंस गए. दो मिनट के भीतर पूरी फैक्टरी आग के शोलों में तब्दील हो गयी. दमकल कर्मी फैक्टरी के हर हिस्से की तलाशी ले रहे हैं. इस फैक्टरी में लगभग दो हजार लोग काम करते हैं.

उधर लाहौर में भी एक जूता फैक्टरी में लगी आग में कम से कम 25 लोगों की मौत हो गयी है. फैक्टरी मालिकों की धरपकड के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है. पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक हादसे के बचाव तथा राहत कार्यों की निगरानी कर रहे हैं, जबकि सिंध प्रांत की सरकार में उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री अब्दुल राऊफ ने घटना की रिपोर्ट तलब की है. आगजनी की इन ताजा घटनाओं ने देश की औद्योगिक सुरक्षा पर प्रश्न चिन्ह खडे कर दिए हैं.

Related Posts: