rupeeeदेहरादून, 23 जून. नोट प्यार के इजहार का यह तरीका देश की करंसी डंप कर रहा है. दरअसल, आरबीआइ की नई गाइडलाइन के तहत कुछ भी लिखे नोट चलन से बाहर कर दिए जाएंगे. आरबीआइ ने 30 जून 2015 के बाद लिखे हुए नोटों को बैन करने का निर्देश दिया है. साल 2013 से आरबीआइ क्लीन नोट पॉलिसी के तहत लिखे हुए नोट बंद करने के लिए एक मुहिम पर लगी है, लेकिन अभी तक मुहिम पूरी तरह से रफ्तार नहीं पकड़ नहीं सकी है.

मुहिम के तहत आरबीआइ ने धीरे-धीरे लिखे हुए नोट पूरी तरह बंद करने की योजना बनाई थी, लेकिन अब आरबीआइ ने इसे पूरी तरह से बंद करने के लिए नियम का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया है. जिसके तहत 30 जून के बाद से ऐसे किसी भी नोट को बैंक स्वीकार नहीं करेगा जिस पर कुछ भी लिखा होगा. क्लीन नोट पॉलिसी के तहत उठाए गए इस कदम के बाद यह नोट न तो बैंक में स्वीकार्य होंगे और न ही मार्केट में चलेंगे.