teacherलखनऊ,  इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा शिक्षा मित्रों की नियुक्ति को लेकर दिए गए फैसले के बाद कोहराम मच गया है। फैसले के बाद हताश हुए इन शिक्षा मित्रों ने अब राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई है। इस बीच खबर है कि इनमें से 8 ने या तो आत्महत्या कर ली है या फिर सदमें से उनकी मौत हो गई। इलाहाबाद हाईकोर्ट के प्रदेश में एक लाख 75 हजार शिक्षामित्रों की सहायक अध्यापक पद पर नियुक्ति रद होने से इस पद पर काम कर रहे लोगों को गहरा झटका लगा है।

आज प्रदेश में कई जिलों में शिक्षा मित्रों ने बैठक पर अगले कदम पर मंथन किया तो बरेली में 3800 शिक्षा मित्रों ने राष्ट्रपति को पत्र भेजकर इच्छा मृत्यु मांगी है। प्रदेश में कई जगह पर हाईकोर्ट के इस फैसले के बाद सहायक अध्यापक के तौर पर काम करने वाले कई लोगों ने आत्महत्या भी की है। कन्नौज में आज शिक्षामित्र ने ट्रेन से कटकर जान दे दी। सोनभद्र में पीएस खराटिया को फैसला सुनने के बाद ऐसा सदमा लगा कि हार्टअटैक से उनकी जान चली गई। यहीं के एक सहायक अध्यापक सुरेंद्र राम को भी हार्ट अटैक पड़ा, जिससे उनकी हालत नाजुक बनी है।

Related Posts: