7bogdapulभोपाल,7 जून,नभासं.जिला प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए राजधानी में पुल बोगदा से सटकर बनने वाले दूसरे पुल के निर्माण में बाधा बन रहे करीब 40 साल पुराने 57 मकान और दुकानों को रविवार को भारी पुलिस बल की मौजूदगी में धराशायी कर दिया.

बुलडोजर और जेसीबी मशीनों से पक्के निर्माणों को गिराया गया. अतिक्रमण हटाए जाने की शुरूआत में लोगों ने पुलिस पर पत्थरों से हमला भी किया था. इसके बाद पुलिस सख्ती दिखाई तो मामला शांत हो गया. अतिक्रमण हटाने के लिए एडीएम बीएस जामोद, एसडीएम सुनील राज नायर, पीसी त्रिपाठी, तहसीलदार भुवन गुप्ता, अजय पटेल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे. इनकी

पहले ही खाली हो गए थे मकान
अतिक्रमण हटाए जाने को लेकर जिला प्रशासन के रवैये को देखते हुए अधिकतर लोगों ने अपने मकान पहले से ही खाली कर दिए थे. इससे प्रशासन को मकान तोडऩे में अधिक मशक्कत नहीं करनी पड़ी. हालांकि एक दुकान का समान नहीं हटा था, जिसे नगर निगम के अमले ने हटाया. इसके बाद दुकान को तोड़ा गया. वहीं एक महिला ने मकान से बाहर नहीं जा रही थी, जिसे पुलिस कर्मियों ने समझाइस के बाद बाहर निकाला और उस महिला को 108 से एंबुलेंस से अस्पताल भेजा गया. अधिकारियों के मुताबिक महिला की तबीयत ठीक नहीं थी, इससे उसे 108 से अस्पताल भेजा गया.

Related Posts: