kashmirश्रीनगर,  सुरक्षा बलों ने पांपोर के उद्यमिता विकास संस्थान (ईडीआई) के भवन में छिपे सभी आतंकियों को 48 घंटे तक चली लंबी मुठभेड़ के बाद सोमवार शाम मार गिराया। भवन से तीनों आतंकियों के शव बरामद कर लिए गए हैं।

रविवार को एक आतंकी मार गिराया गया था। सभी लश्कर के विदेशी आतंकी थे। मौके से तीन एके-47 राइफल, अन्य हथियार और गोला बारूद बरामद किया गया है। सैन्य प्रवक्ता ने मुठभेड़ समाप्त होने की पुष्टि की।

आतंकियों के खिलाफ जारी अभियान के तहत सोमवार तड़के पांच बजे से ही इलाके में गोलाबारी की गूंज सुनाई देने लगी थी। मुठभेड़ दिन भर जारी रही। दोपहर बाद आतंकियों को मार गिराने के मंसूबे से सुरक्षा बलों ने भारी मोर्टार शेल्स और आरपीजी (राकेट प्रोपेलैंट ग्रेनेड) प्रयोग में लाए।

यूएवी का भी प्रयोग किया गया। भारी मात्रा में इमारत के भीतर गोले दागे गए। इससे पांच मंजिला भवन के ऊपरी हिस्से में आग लग गई। आपरेशन की कमान संभाल रहे विक्टर फोर्स के जीओसी मेजर जनरल अरविंद दत्ता का कहना है कि सभी आतंकी विदेशी थे और आत्मघाती दस्ते से जुड़े थे।उनके पास भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद भी थे। प्रत्यक्षदर्शियों ने उन्हें भारी भरकम बैग के साथ इमारत में दाखिल होते देखा था। भवन के भीतर से आतंकी सुरक्षा बलों की गतिविधियों पर नजर रख रहे थे।

ज्ञात हो कि इस मुठभेड़ में दो कैप्टन सहित पांच जवान शहीद हो गए। एक नागरिक की भी मौत हुई है। आतंकियों ने शनिवार शाम को ईडीआई भवन के पास जम्मू से श्रीनगर की ओर आ रहे सीआरपीएफ के काफिले की बस पर हमला किया था। इसके बाद वे भागकर ईडीआई भवन में छिप गए थे।
आतंकियों को मार गिराने के बाद सुरक्षा बलों की ओर से इमारत में रूम-टू-रूम सर्च आपरेशन चलाया गया, ताकि पूरी इमारत को सही से सैनिटाइज किया जा सके।

उल्लेखनीय है कि ईडीआई भवन में 44 कमरे, कई लाव?ियां, वाशरूम और टाप फ्लोर पर एक रेस्तरां बना है। इसके चलते आतंकियों को मार गिराने में जवानों को 48 घंटे का समय लगा।

Related Posts: