south_asina_gamesगुवाहाटी,  पहलवानों, तीरंदाजों, भारोत्तोलकों और तैराकों के जबरदस्त प्रदर्शन की बदौलत मेजबान भारत ने 12वें दक्षिण एशियाई खेलों में अपनी चमक और तेज करते हुये इन खेलों के चौथे दिन आज अपने पदकों की संख्या 48 स्वर्ण सहित 72 पदक पहुंचा दी.

भारतीय पहलवानों ने इन खेलों में अपना दबदबा कायम रखते हुये कुश्ती मुकाबलों के अंतिम दिन पांच स्वर्ण पदक जीते और कुश्ती में अपना अभियान कुल 14 स्वर्ण और दो रजत पदकों के साथ समाप्त किया. भारत ने भारोत्तोलन में चार स्वर्ण, तैराकी में तीन स्वर्ण, तीरंदाजी में दो स्वर्ण, बैडमिंटन में दो स्वर्ण, साइक्लिंग में दो स्वर्ण, स्क्वैश में एक स्वर्ण और वुशू में एक स्वर्ण जीता. श्रीलंका 11 स्वर्ण सहित 61 पदकों के साथ दूसरे और पाकिस्तान चार स्वर्ण सहित 29 पदकों के साथ तीसरे स्थान पर है.

नेपाल ने भी अपना पहला स्वर्ण पदक जीत लिया है. भारत ने कुश्ती मुकाबलों के पहले दिन पांच स्वर्ण, दूसरे दिन चार स्वर्ण और तीसरे दिन पांच स्वर्ण जीते. भारतीय पहलवानों ने आरजी बरूआ स्पोर्ट्स काम्पलैक्स में हुये कुश्ती मुकाबलों के तीसरे दिन दांव पर लगे छह स्वर्ण पदकों में से पांच अपने नाम किये. भारत ने कुश्ती में इन पांच स्वर्ण के अलावा एक रजत भी जीता.

भारत ने महिलाओं के सभी आठों वर्गों में स्वर्ण जीते जबकि पुरुषों ने छह स्वर्ण और दो रजत जीते. शिल्पी श्योरण ने दिन का पहला स्वर्ण दिलाया. विक्टर क्रिस्टोफर ने 105 किग्रा और प्रदीप सिंह ने 94 किग्रा का स्वर्ण जीता. विक्टर ने स्नैच में 135 और क्लीन एंड जर्क में 182 किग्रा सहित कुल 317 किग्रा वजन उठाया. प्रदीप ने स्नैच में 145 और क्लीन एंड जर्क में 186 सहित कुल 331 किग्रा वजन उठाकर भारत को चौथा स्वर्ण पदक दिला दिया. इसके साथ ही भारोत्तोलन में भारत ने अब तक 10 स्वर्ण पदक जीत लिये हैं.

भारत ने बैडङ्क्षमटन में जीते दोनों स्वर्ण- किदांबी श्रीकांत और पीवी सिंधू की अगुवाई में भारत ने 12 दक्षिण एशियाई खेलों में आज बैडमिंटन की पुरुष एवं महिला टीम स्पर्धाओं के स्वर्ण पदक जीतकर अपने खिताब बरकरार रखे. भारत ने पिछले सैग खेलों में बैडमिंटन में सभी सात स्वर्ण जीते थे. भारतीय पुरुष टीम ने श्रीलंका को एकतरफा अंदाज में 3-0 से पीट दिया. श्रीकांत ने बुवानाका गुनातिलेका को 40 मिनट में 21-14, 21-14 से हराया.

Related Posts: