mp1ब्यावरा,  लोकायुक्त पुलिस ने आज सायंकाल मनरेगा के सब इंजीनियर को कूप निर्माण के मूल्यांकन के नाम पर पूर्व सरपंच के छोटे भाई से 5 हजार रुपये की रिश्वत के मामले में रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया.

उल्लेखनीय है कि विकास अग्रवाल नामक सब इंजीनियर ब्यावरा जनपद पंचायत में मनरेगा के कार्यो के लिये पदस्थ है. उसके द्वारा ग्राम बागौरी के एक हितग्राही से कुंए का मूल्यांकन कर भुगतान में मदद करने के नाम पर 10 हजार रुपये की रिश्वत मांगी जा रही थी.

इस बात की शिकायत हितग्राही द्वारा लोकायुक्त को करने पर आज भोपाल लोकायुक्त पुलिस की एक टीम ने पुलिस अधिकारी वीरेन्द्र सिंह के नेतृत्व में सब इंजीनियर विकास अग्रवाल के तुलसी नगर स्थित आवास पर छापा मारकर पांच हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा.

Related Posts:

स्वैच्छिक संगठन सेवा को विकास के साथ जोड़ें
कांग्रेस के युवराज ने गरीबों का उड़ाया मजाक: प्रभात झा
ऊर्जा क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर मंत्री शुक्ल सम्मानित
खंडवा पहुंचा दक्षिण-पश्चिमी मानसून
प्रतिभाओं को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खिलाने की सुविधा जारी : यशोधरा राजे
देश में बढ रहा है भ्रष्टाचार : स्वामी स्वरुपानंद सरस्वती