बस्ती में छाया मातम

भोपाल, 17 जुलाई. रायसेन के सेहतगंज स्थित महादेवपानी स्टापडेम पर पिकनिक मनाने गये सात युवकों की पानी में डूबने से कल मौत हो गई थी. हादसे में मारे गये सातों युवक भोपाल के रहने वाले थे, जिनमें से ओल्ड सुभाष नगर के आचार्य नरेंद्र देव नगर में जब पांचों युवकों की अर्थियां एक साथ जैसे ही उठीं, पूरी बस्ती में मातम छा गया.

मृतक के परिजनों के अलावा पड़ोसी और रिश्तेदार सभी गमगीन थे. रात में पांचों के शवों के बस्ती में आने के बाद कोई भी सो नहीं सका. जो अंतिम विदाई देने पहुंचे उनकी आंखें नम थीं तो इधर परिजनों का हाल बुरा था. इस साल में शहर में यह दूसरी बड़ी घटना है, जब नहाने  गये युवक एक साथ डूब गये. मृतक महेंद्र और उसके छोटे भाई मोना की लाश को देखने के लिये आसपास बस्तियों के लोगों की भीड़ लग गई थी. दोनों के शवों को देखकर लोग गमगीन थे. इसके अलावा अन्य तीन युवकों के घर के बाहर लोगों का मजमा लगा हुआ था. इधर मृतक के परिजनों ने बताया कि पांचों दोस्त एक साथ घूमने के लिये गये थे. वहां एक को बचाने के लिये चारों साथी एक-एक कर डेम में कूद गये. चूंकि पांचों दोस्तों को तैरना नहीं आता था इस कारण मौके पर मौजूद आशु और जीशान भी उन्हें बचाने के लिये पानी में कूद पड़े मगर वह पांचों युवकों को नहीं बचा सके.

कल हुआ था पोस्टमार्टम
मृतक राजकुमार के परिजनों ने बताया कि पांचों युवकों के शवों का पोस्टमार्टम रात में ही रायसेन पुलिस ने करवा लिया था. पोस्टमार्टम कराने के बाद युवकों की लाशों को परिजनों को सौंप दिया गया था. लोगों का कहना था कि पीएम भोपाल में ही कराया जाये लेकिन पुलिस ने किसी की नहीं सुनी.

मुआवजे की मांग
मृतकों के पड़ोसियों और पीडि़त परिवारों ने मुआवजे की मांग की है.

जाम में फंसे थे गोताखोर
भोपाल में भाजपा के किसान महापंचायत कार्यक्रम के चलते लगे जाम में गोताखोरों के फंसे होने के कारण भी देरी हुई. बाद में ग्रामीणों के साथ मिलकर गोताखोरों ने लाशों को महादेवपानी डेम से निकाला.

Related Posts: