India's Prime Minister Manmohan Singh smiles in New Delhiचंडीगढ़,  पंजाब यूनिवर्सिटी में 50 साल पहले अपना आखिरी लेक्चर देने वाले पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह अपने पुराने संस्थान में प्रोफेसर बनकर वापसी करने के लिए तैयार हैं. कहा जा रहा है कि मनमोहन सिंह ने पंजाब यूनिवर्सिटी के जवाहरलाल नेहरु चेयर के लिए प्रफेसर बनने की पेशकश स्वीकार कर लिया है.

पंजाब यूनिवर्सिटी के वाइस-चांसलर प्रोफेसर अरुण कुमार ग्रोवर ने बताया, च्हमने जरूरी चीजों के इंतजाम पर काम कर लिया है. वह यहां आने और छात्रों से इंटरऐक्शन को लेकर खुश हैं. चंडीगढ़ यात्रा के दौरान वह छात्रों को लेक्चर दे सकते हैं और बाकी लेक्चर वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दे सकते हैं.
मनमोहन सिंह ने अर्थशास्त्र में पोस्ट ग्रेजुएशन 1954 में पंजाब यूनिवर्सिटी से पूरा किया था. तीन साल बाद 1957 में उन्होंने यहीं पर सीनियर लेक्चरर के तौर पर जॉइन किया. संयुक्त राष्ट्र में पोस्टिंग से पहले 1966 तक मनमोहन सिंह पंजाब यूनिवर्सिटी से जुड़े रहे.

Related Posts: