पाक के बार-बार सीजफायर उल्लंघन पर भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

    खास बातें

  • कोटली सेक्टर में जवाबी कार्रवाई
  • उरी इलाके में कर रहे थे घुसपैठ
  • पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त कार्रवाई
  • एक आतंकी के शव की तलाश

नई दिल्ली/श्रीनगर,

सेना दिवस पर आर्मी चीफ बिपिन रावत की पड़ोसी देश को दी गई कड़ी चेतावनी के बीच भारतीय सेना ने सीजफायर उल्लंघन का कड़ा जवाब देते हुए 7 पाकिस्तानी जवानों को मार गिराया.

इस मुंहतोड़ जवाब के साथ ही सुरक्षा बलों ने सोमवार को पाकिस्तान से घुसपैठ की कोशिश कर रहे जैश-ए-मोहम्मद के 6 आतंकियों को भी ढेर कर दिया. भारतीय जवानों ने सोमवार को पाकिस्तान की नापाक हरकतों पर दोहरा हमला बोला.

एक तरफ आर्मी चीफ जहां पाकिस्तान को कड़े लहजे में चेतावनी दे रहे थे, वहीं दूसरी तरफ भारतीय सेना सीजफायर उल्लंघन के बाद पाक सेना से मोर्चा ले रही थी. पाकिस्तान की ओर से सीजफायर उल्लंघन का भारतीय जवानों ने कोटली सेक्टर में तगड़ा जवाब दिया. जवाबी फायरिंग में पाकिस्तानी सेना के 7 जवान मारे गए. पाकिस्तानी सेना ने अपने बयान में इसकी पुष्टि भी की.

भारतीय जवानों को आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑलआउट में भी बड़ी कामयाबी मिली. उरी इलाके में घुसपैठ की कोशिश कर रहे जैश-ए-मोहम्मद के 6 आतंकियों को मार गिराया गया. जम्मू कश्मीर पुलिस के महानिदेशक शेष पॉल वैद्य के मुताबिक जम्मू-कश्मीर पुलिस, सेना और सीआरपीएफ की संयुक्त कार्रवाई में जैश-ए-मोहम्मद के छह आतंकी मारे गए. एक आतंकी के शव की तलाश जारी थी.

पाक ने माना -हमारे चार सैनिक मारे गए

दावा-3 भारतीय जवान मारे

कश्मीर में नियंत्रण रेखा के निकट भारतीय सेना की गोलीबारी में पाकिस्तान के चार सैनिक ढेर हो गए. पाकिस्तानी की मीडिया इकाई इंटर.सर्विसेज पब्लिक रिलेंशंस(आईएसपीआर) के आज जारी बयान के अनुसार पाकिस्तान सेना के चार जवान कोटलाई सेक्टर जनड्राट में नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना की गोलीबारी से मारे गए हैं.

बयान में कहा गया है कि पाक सैनिक जब कोटलाई क्षेत्र में संचार लाइनों के रखरखाव के कार्य में जुटे हुए थे उन पर भारी मोर्टार से हमला किया गया और इसमें चारों सैनिक मारे गए. आईएसपीआर ने यह भी कहा है कि पाकिस्तान की सेना की जवाबी कार्रवाई में तीन भारतीय सैनिक भी मारे गए और कई अन्य घायल हुए.

सुधर जाओ वरना और बडी़ कार्रवाई: आर्मी चीफ

आर्मी डे के मौके पर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर पड़ोसी मुल्क सुधरा नहीं तो उसके खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जाएगी.

सैनिकों को संबोधित करते हुए आर्मी चीफ ने कहा कि आतंकवादियों की मदद करने वाली पाकिस्तान की सेना ने अगर मजबूर किया तो सख्त कदम उठाए जाएंगे. इसके अलावा रावत ने सोशल मीडिया के जरिए सेना के खिलाफ साजिश का जिक्र करते हुए इसका इस्तेमाल जिम्मेदारी से किए जाने की सलाह दी.

ऑपरेशन ऑल आउट को लेकर हंगामा

जम्मू-कश्मीर में विपक्ष सेना के कॉर्डन ऐंड सर्च ऑपरेशन (कासो) का विरोध कर रहा है. जम्मू-कश्मीर में चल रहे विधानसभा सत्र के दौरान ने नैशनल कॉन्फ्रेंस के नेताओं ने हंगामा किया और विधानसभा से वॉक आउट कर दिया.

सोमवार को विधानसभा की कार्यवाही शुरू की गई, नैशनल कॉन्फ्रेंस के विधायकों ने अपनी सीट से खड़े होकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करना शुरू कर दिया. सदस्यों ने आरोप लगाया कि सेना के ऑपरेशन ऑल आउट की वजह से कश्मीर के स्थानीय लोगों में डर बैठ गया है.

विपक्ष ने इस दौरान सरकार से अपना मत रखने को कहा और बहिष्कार करते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया. विधानसभा के बाहर नैशनल कॉन्फ्रेंस के वरिष्ठ नेता अली मोहम्मद सागर ने सर्च ऑपरेशन को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया.

Related Posts: