एच-1वी वीजा नियम में नहीं किया बदलाव-अमेरिका

नई दिल्ली,

अमेरिका में नौकरी और दूसरे काम के लिए गए भारतीयों नागरिकों के लिए राहत भरी खबर आई है.
अमेरिकी प्रशासन ने साफ कर दिया है कि ट्रंप सरकार एच-1वी वीजा पर रह रहे लोगों को देश से निकालने के किसी प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रही है.

इस बात की जानकारी अमेरिकी नागरिकता और आव्रजन सेवा विभाग (यूएससीआईएस) ने दी है. गौरतलब है कि ऐसी रिपोर्ट सामने आ रही थी कि ट्रंप सरकार एच-1वी पाने की योग्यता को और कड़ा करने जा रही है जिसकी वजह से करीब 7 लाख 50 हजार भारतीयों को अमेरिका छोडऩा पड़ेगा.

रिपोर्ट में ये भी दावा किया जा रहा था कि एच-1वी होल्डर लोगों को वीजा एक्सटेंशन नहीं देने पर भी विचार कर रही हैं. इस तरह की खबरों के सामने आने के बाद यूएससीआईएस ने ऐलान किया कि ट्रंप सरकार ऐसा कोई कदम नहीं उठा रही है.

जोनाथन ने कहा, एजेंसी रोजगार आधारित वीजा क्रार्यक्रमों से जुड़े कई नीतियों पर विचार कर रही है जो राष्ट्रपति ट्रंप के अमेरिकन एक्जीक्यूटिव की नियुक्तियां और अमेरिकी लोगों को रोजगार में प्राथमिकता देने से जुड़ा है.

“यूएससीआईएस के एक अधिकारी ने कहा, इस नियम से जुड़े भाषा में थोड़ा बदलाव किया गया है लेकिन कोई नया प्रस्ताव नहीं है कि एच-1वी वीजा धारक को जबरदस्ती अमेरिका छोडऩे के लिए बाध्य किया जाय.

21 वीं सदी के अमेरिकी प्रतिस्पर्धात्मक सेक्शन 104 सी के तहत यूएससीआईएस ऐसे लोगों को 6 साल तक का वीजा एक्सटेंशन दे सकता है. यूएससीआईएस के मीडिया रिलेशंस के चीफ जोनाथन ने कहा, भाषा में जो बदलाव किया गया है उसमें ऐसा कुछ नहीं है जिससे एच-1वी धारक को अमेरिका छोडऩा पड़े क्योंकि उनके नियोक्ता एक वर्ष में एक्सटेंशन का अनुरोध कर सकते हैं.”

Related Posts: