Shiva Shresthaभारतीय टीम ने एक व्यक्ति को जिंदा निकाला, 
नेपाल में आए विनाशकारी भूकंप के चलते हुए भूस्खलन से मलबे में दबे 37 साल के एक व्यक्ति को भारतीय बचाव टीम ने 98 घंटे बाद जिंदा निकाला है. इस व्यक्ति की पहचान शिव श्रेष्ठ के रूप में की गई है जो नेपाल के नुवाकोट जिला स्थित बिदुर का रहने वाला है. एक व्यक्ति से मिली सूचना के आधार पर भारतीय तलाश एवं बचाव टीम मौके पर पहुंची. उसके सिर और शरीर पर गंभीर चोटें आई हैं.

श्रेष्ठ ने बताया, ”मुझे एक नया जीवन मिला है.’ फ्रांसीसी बचाव टीम ने 27 वर्षीय रिषी खनल को एक होटल के मलबे से भूकंप के तीन दिन बाद निकाला. उसने बताया कि वह जिंदा रहने के लिए अपना मूत्र पीने को मजबूर हुआ. पेंबा लामा नाम के 15 साल के एक लड़के को सात मंजिला इमारत के मलबे से निकाला गया. हालांकि, बचावकर्मी अब भी इस पर्वतीय देश के दूर दराज के इलाकों में पहुंचने के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

Related Posts:

भारतीय फिल्मों पर रोक से "पाक" में गुस्सा
नोटों और सिक्कों का उत्पादन बढ़ाने की तैयारी
भ्रष्टाचार की शिकायतों के मामले मंत्री देख रहे हैं: चौहान
कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने की जिम्मेदारी से न हटें विकसित देश : जावड़ेकर
सूखे से निपटने में संसाधनों की कमी का न बनाएं बहाना : सुप्रीम कोर्ट
मोदी से मिले राजनाथ, कश्मीर की स्थिति की जानकारी दी