अनेक क्षेत्रों में जनजीवन प्रभावित

नई दिल्ली, 20 जनवरी. दिल्ली में शुक्रवार को भी घने कोहरे के साथ ठंडी हवाओं का प्रकोप जारी रहा, जिसकी वजह से न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम 4.5 सेल्सियस दर्ज किया गया। कोहरे के कारण दृश्यता घटने से स्कूल एवं कार्यालय जाने वालों को समस्याओं का सामना करना पड़ा। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार सुबह 8.30 बजे दृश्यता 50 मीटर से भी कम थी। मौसम विश्लेषकों का कहना है कि ठंड बढ़ाने में ला-निना का बड़ा योगदान है। ला-निना के चलते भारत में ठंड की मार मार्च तक कायम रहने की संभावना है।

क्या है ला-निना :
ला-निना और एल-निनो, यह दोनों ही प्रशांत महासागर की तल से उठने हवा पर आधारित प्रक्रिया है। ला-निना तब अधिक सक्रिय होता है, जब समुद्र की सतह ठंडी होती है और एल-निनो सतह गरम होने पर। ला-निना के प्रभाव से इस बार विश्व के कुछ क्षेत्रों में अधिक ठंड, कुछ क्षेत्रों में भारी बारिश और कुछ में आने वाले समय में अधिक गर्मी पड़ेगी।

कोहरे का कहर

नई दिल्ली. घने कोहरे के कारण शुक्रवार को रोड, ट्रेन और फ्लाइट्स का ट्रैफिक बुरी तरह से प्रभावित रहा है। दिल्ली में इंदिरा गांधी इंटरनैशनल एयरपोर्ट पर जहां 40 फ्लाइट्स देर से उड़ीं, वहीं 30 ट्रेनें भी देर से चल रही हैं।

दिल्ली में चार उड़ानों को रद्द भी करना पड़ा है। बहुत कम दृश्यता के कारण 5 अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का रास्ता भी बदल दिया गया। एयरपोर्ट के मुख्य रनवे पर आज दृश्यता 150 से 175 मीटर के बीच रही, जबकि नए रनवे पर यह 75 से 100 मीटर के बीच रही। सामान्य दृश्यता आज 50 मीटर से भी कम रही और कुछ विमानों को कैट आईआईआईबी व्यवस्था की सहायता से उतारना पड़ा। जेट एयरवेज की दुबई और दोहा से आने वाली दो उड़ानों को और एयर इंडिया की अबू धाबी और मस्कट से आने वाली उड़ानों तथा रॉयल जॉर्डन की ओमान से आने वाली एक उड़ान को निकटवर्ती दूसरे हवाई अड्डे पर उतारा गया। लखनऊ, कोच्चि,बेंगलुरु और चंडीगढ़ जाने वाली चार घरेलू उड़ानों को रद्द कर देना पड़ा। उत्तर भारत में घने कोहरे के कारण रेल यातायात भी प्रभावित रहा और 30 रेलगाडियां देरी से चली।

बेहाल एमपी चुभनभरी हवाएं…

शुक्रवार. म.प्र. के मालवा, निमाड़, बुंदेलखंड, बघेलखंड, महाकोशल, चंबल के विभिन्न स्थानों पर कड़ाके की ठंड और चुभनभरी हवाओं से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चला है. पिछले तीन दिनों से जारी बर्फीली हवाएं आज और तेज हो गईं. इंदौर में तापमान 8.2 डिग्री, भोपाल 8.3, ग्वालियर, 4.8 और जबलपुर 9.4 डिग्री रिकार्ड किया गया. उज्जैन में पारा 5 डिग्री के आसपास रहा. शाम होते ही सड़कों पर सन्नाटा पसरा नजर आ रहा है. पचमढ़ी में ठंड के प्रकोप से पर्यटक ठिठुरे, महादेव की गुफा में तापमान 0.4 डिग्री पर पहुंचा. सतपुड़ा की मैकल श्रृंखलाओं से घिरी पचमढ़ी अपने हसीन प्राकृतिक नजारों से जहां पर्यटकों को लुभा रही है वहीं सर्दी के इस मौसम में ठंड भी अपना विकराल रूप दिखाते हुये इन पर्यटकों पर अपना कहर ढा रही है. बड़े कहादेव की गुफा के अंदर आज तापमान 0.4 डिग्री तक पहुंच गया.

पचमढ़ी स्थित मौसम विज्ञान केन्द्र गामा सेन्टर से ओमप्रकाश ने बताया कि आज सुबह से समूचे पर्वतांचल पर सर्द मौसम कील सी चुभन पैदा कर देने वाली ठंडी हवाओं का लहरा लहरा कर चलना बदस्तूर जारी है. लोग ठंड से परेशान होकर अलाव और हीटर का सहारा ले रहे और इस सर्द मौसम में चलती शीत लहर में चाय और काफियों की चुस्कियां का आनंद भी ले रहे हैं. मौसम विभाग में प्राप्त जानकारी के अनुसार समूचे प्रदेश में शीतलहर का यह प्रकोप अगले कुछ दिनो तक यूं ही जारी रहेगा. अर्थात अभी ठंड से कुछ कुछ राहत दिन में मिल जाये. तो ठीक परंतु रात के मौसम में इस में निजात पाना अगले कुछ दिन तक संभव नहीं है.

Related Posts: