नई दिल्ली. बंबई शेयर बाजार [बीएसई] ने बीते महीने ही एसएमई एक्सचेंज को लांच कर छोटी कंपनियों के लिए बाजार से धन जुटाने का रास्ता साफ कर दिया था।

इस दिशा में आगे बढ़ते हुए अब उसने नए एक्सचेंज पर कंपनियों की सूचीबद्धता [लिस्टिंग] के लिए नियमों की घोषणा कर दी है। एक बार लिस्ट होने पर एसएमई एक्सचेंज में इन कंपनियों के शेयरों की खरीद-फरोख्त हो सकेगी। इससे ये नकदी संकट की किल्लत का आसानी से मुकाबला कर सकेंगी। अब तक इन कंपनियों को किसी भी तरह की मदद के लिए सरकार और बैंकों का मुंह तांकना पड़ता था। मुश्किल से अगर कर्ज मिल भी जाता था, तो वो उनकी जरूरत को पूरा करने के लिए नाकाफी साबित होती थी।

Related Posts:

लोक सेवाओं के लिए टोकन शुल्क की सिफारिश
प्राध्यापक को भारमुक्त नहीं करने वाला प्राचार्य निलंबित
ऐसे राष्ट्र का निर्माण करें, जहां सभी सुरक्षित हों: मोदी
पठानकोट हमले का सच जल्द सामने लाएंगे :शरीफ
आमतौर पर सभी राज्यों ने जीएसटी का समर्थन किया है : जेटली
सीहोर में किसानों का हंगामा, सीएम से चर्चा के बाद आंदोलन स्थगित