डिप्टी रजिस्टार एवं जिला सहकारी बैंक महाप्रबंधक जांच में जुटे

ओबेदुल्लागंज,30 मई,नभासं. गत दिनों रायसेन में मिले 22 सौ क्विटंल लावारिस गेहूं की कलेक्टर एमएल मीना ने जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने आज बैठक में अधिकारियों को इस मामले को लेकर जमकर फटकार लगाई.

कलेक्टर की फटकार के बाद सकते में आए डिप्टी रजिस्टार एवं जिला सहकारी बैंक महाप्रबंधक मामले की जांच में जुट गए. एक पखवाड़ा बीतने को है लेकिन प्रशासन अभी तक यह नहीं पता लगा पाया कि इतनी बड़ी मात्रा में मिला गेहूं किसका है और कहां ले जा रहा था. सूत्रों के मुताबिक कुछ अधिकारी इस मामले में सांठ-गांठ कर मामले को रफा-दफा करने में जुटे थे. कुछ अधिकारियों को मामले की पूरी जानकारी है लेकिन वह मुंह खोलने से डर रहे हैं. यही कारण है कि आज तक इस मामले में एफआईआर नहीं दर्ज हो सकी है. सूत्र बताते हैं कि जिला सहकारी बैंक के महाप्रबंधक के सांठ-गांठ के चलते यह गेहूं बिक्री केन्द्र पर जा रहा था. लेकिन किसी ने इसकी सूचना लीक कर दी और गेहूं पकड़ा गया. महाप्रबंधक से मामला जुडा़ होने के कारण इस पर कार्यवाही नहीं हो सकी है.

Related Posts: