रुपए का अवमूल्यन तोड़ेगा कमर

नई दिल्ली, 11 जून. रुपये के अवमूल्यन और लागत में वृद्धि के असर से निपटने के लिए टिकाऊ उपभोक्ता कंपनियां फिर से दाम बढ़ाने की तैयारी कर रही हैं। अगर आपकी रेफ्रीजरेटर या एयरकंडीशनर खरीदने की योजना है तो देर मत कीजिए। इस बार कीमतों में वृद्धि चार से 10 प्रतिशत के बीच होगी। इससे पहले तमाम कंपनियों ने बजट में उत्पाद शुल्क बढऩे के बाद दामों में बढ़ोतरी की थी।

सैमसंग इंडिया [घरेलू वस्तुएं] के उपाध्यक्ष महेश कृष्णन ने कहा कि कंपनी रेफ्रीजरेटर और वाशिंग मशीन के दाम बढ़ाएगी। इसमें कितनी वृद्धि होगी इस बारे में कृष्णन ने कहा कि कंपनी अभी इस बारे में गुणाभाग कर रही है। सूत्रों का कहना है कि कीमतें में वृद्धि उत्पादों की आयात मात्रा पर निर्भर करेंगी। टिकाऊ उपभोक्ता वस्तुओं में 30-70 प्रतिशत हिस्सा आयात किया जाता है। लगभग सभी कंपनियां अपने रेफ्रीजरेटर, एयरकंडीशनर और वाशिंग मशीन पूर्ण निर्मित अवस्था में आयात करती हैं। घरेलू बाजार में छह दरवाजे वाले रेफ्रिजरेटर पेश करने की योजना बना रही हायर वाशिंग मशीन और एलसीडी टीवी की कीमतें बढ़ा रही है।

हायर इंडिया के प्रेसीडेंट एरिक ब्रैगैंजा ने कहा कि हम इस महीने कीमतें में तीन से पांच प्रतिशत बढ़ाने जा रहे हैं। व्हर्लपूल, एलजी और गोदरेज भी कीमतों में वृद्धि की घोषणा करने से पहले मुनाफे पर बन रहे दबाव का अनुमान लगा रहे हैं। व्हर्लपूल इंडिया के उपाध्यक्ष [कॉरपोरेट मामले एवं रणनीति] शांतनु दासगुप्ता ने कहा कि मूल्य निर्धारण विभिन्न किस्मों के मूल्यांकन पर आधारित होता है।

Related Posts: