भारत में बदसलूकी की घटनाओं पर संयुक्त राष्ट्र में चिंता

USA संयुक्त राष्ट्र, 1 जनवरी. मानवाधिकार उच्चायुक्त नवी पिल्लै ने भारत से कहा है कि बलात्कार जैसी घटनाओं को रोकने के लिए कानून व्यवस्था को मजबूत बनाया जाए.


नवी ने कहा कि भारत में बलात्कार एक राष्ट्रीय समस्या है जिससे सभी वर्ग और जाति की महिलाएं प्रभावित हो रही हैं. इस समस्या के राष्ट्रीय समाधान की जरूरत है. उन्होंने दिल्ली बलात्कार पीडि़ता की मौत पर गुहरा दुख व्यक्त किया और कहा कि इस छात्रा पर हमले की निंदा करने में वह भारतीयों के साथ हैं. पिछले 16 दिसंबर को दिल्ली में चलती बस में छह लोगों ने 23 साल की लड़की से सामूहिक बलात्कार करने के साथ ही उसके साथ हैवानियत का व्यवहार किया था. करीब एक पखवाड़े तक जिंदगी के लिए जंग लडऩे के बाद उस बहादुर लड़की ने पिछले शनिवार तड़के सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में आखिरी सांस ली. नवी ने कहा कि भारत अतीत में कई बड़े सामाजिक आंदोलनों का गवाह रहा है और उसने दिखाया है कि बलात्कार जैसी समस्याओं से मुक्ति पाई जा सकती है. भारत में महिलाओं के खिलाफ हिंसा को खत्म करने के लिए तत्काल तर्क संगत बहस की जरूरत है. उन्होंने कहा कि महिलाओं के हित में नई जनचेतना और अधिक प्रभावी एवं संवदेनशील कानूनी व्यवस्था की जरूरत है.  बलात्कार के खिलाफ भारत की कानूनी व्यवस्था को मजबूत किया जाए. मैं भारत सरकार से कहना चाहती हूं कि वह इस प्रक्रिया में सिविल सोसायटी और संयुक्त राष्ट्र की भी मदद ले. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त ने कहा कि उम्मीद करते हैं कि 2013 भारत में महिलाओं के खिलाफ हिंसा के खत्म होने का साल होगा और महिलाएं बिना डर के घर से बाहर निकल सकेंगी.


अखिलेश पीडि़ता के परिजनों को देंगे 20 लाख रुपये

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दिल्ली में हुए सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई युवती की मौत से शोक संतप्त परिजनों को 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है।

उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने सोमवार देर शाम एक बयान में मुख्यमंत्री अखिलेश के इस निर्णय की जानकारी दी। प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने अपने विवेकाधीन कोष से दुष्कर्म का शिकार हुई उत्तर प्रदेश की बेटी निर्भया के परिजनों को बीस लाख रुपये की आर्थिक मदद देने का फैसला किया है। उल्लेखनीय है कि गत 16 दिसम्बर को दिल्ली में सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हुई युवती उत्तर प्रदेश के बलिया की रहने वाली थी।  दस दिन से ज्यादा समय तक जिंदगी से जंग लडऩे के बाद आखिरकार उसने सिंगापुर के अस्पताल में दम तोड़ दिया था।  प्रवक्ता ने यह भी बताया कि मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ जिले में राष्ट्रीय स्तर का एक खेल विश्वविद्यालय स्थापित करने का निर्णय भी लिया है।

Related Posts: