भाजपा व कांग्रेस सदस्यों के बीच तकरार के बाद दस मिनट के लिए रुकी कार्यवाही

भोपाल,22 नवंबर.नभासं. मध्यप्रदेश की दो मंत्रियों के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया द्वारा आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले को लेकर आज विधानसभा में सत्ता पक्ष भाजपा और प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस सदस्यों के बीच तीखी नोक झोक होने के बाद हंगामा होने के कारण सदन की कार्यवाही दस मिनट के लिए स्थगित कर दी गई थी.

सत्ता पक्ष की सदस्य नीता पटेरियों ने सदन में शून्य काल शुरू होते ही भूरिया द्वारा पिछले दिनों अलीराजपुर जिले में एक कार्यक्रम में प्रदेश की स्कूल शिक्षा मंत्री अर्चना चिटनीस और महिला एवं बाल विकास मंत्री रंजना बघेल को नाचने वाली बताने का मामला उठाया. उन्होंने कहा कि भूरिया ने इन दोनों महिला मंत्रियों के संबंध में आपत्तिजनक टिप्पणी करके नारी जाति का अपमान किया है. संसदीय कार्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि यह टिप्पणी सम्पूर्ण महिला जाति का अपमान है. उद्योग मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि इससे महिलाओं के सम्मान को ठेस पहुंची. इस बीच प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस के सदस्यों ने एक साथ खडे होकर बोलना शुरू कर दिया जिससे सदन में शोरगुल की स्थिति निर्मित हो गई. विधानसभा अध्यक्ष ईश्वरदास रोहाणी द्वारा व्यवस्था देकर चिटनीस को बोलने का अवसर दिया गया. चिटनीस ने कहा कि प्रदेश की संसदीय परंपरा के तहत पहली बार किसी नेता ने इस तरह की आपत्तिजनक टिप्पणी करके नारी जाति का अपमान किया है.उन्होंने अध्यक्ष से कहा कि इस मामले को लेकर वह विशेषाधिकार हनन का नोटिस दे चुकी है जिसे स्वीकार किया जाये.

इसके बाद फिर से शोरगुल होने पर अध्यक्ष ने दस मिनट के लिए सदन की कार्रवाई स्थगित कर दी. कांग्रेस महिला मोर्चा भी मुखर- भाजपा महिला मोर्चा की ताबडतोड सक्रियता के बाद आज कांग्रेस महिला मोर्चा ने राज्य सरकार पर निशाना साधा और राज्यपाल को ज्ञापन देकर प्रदेश में बिगडती कानून व्यवस्था महिलाओं पर अत्याचार,उत्पीडन व हिंसक घटनाओं को रोकने की गुहार लगाई.ज्ञापन देने सुधा राय के साथ अर्चना जायावाल व प्रतिभा विक्टर भी मौजूद थी.

 

Related Posts: