नई दिल्ली, 28 जुलाई, नससे. जंतर-मंतर पर हो रहे टीम अन्ना के आंदोलन में ज्यादा भीड़ नहीं जुट पाने के बावजूद समाजसेवी अन्ना हजारे ने कहा है कि उनका आंदोलन पांच लोगों की मौजूदगी में भी जारी रहेगा. इस बीच सिक्किम में भूमि अधिग्रहण और भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन की अगुआई कर रहे वाई के लेप्चा ने भी अन्ना के पक्ष में समर्थन जताया व अन्ना को वहां की पारंपरिक टोपी पहनाई.

अनशन के चौथे दिन अन्ना समर्थकों ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के आवास के बाहर भी प्रदर्शन किया. करीब एक बजे अन्ना हजारे मंच पर आए और उन्होंने सरकार पर एक बार फिर तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि सरकार ने उन्हें तीन बार धोखा दिया है. जब तक जन लोकपाल नहीं आएगा, तब तक वह लड़ते रहेंगे. अंतिम सांस तक जारी रहेगी लड़ाई.  अनशन स्थल से शुक्रवार को गायब रहीं किरन बेदी भी शनिवार को मंच पर मौजूद नजर आईं.  केजरीवाल ने कहा कि जिन नेताओं पर भ्रष्टïाचार के गंभीर आरोप हैं वह खुलेआम घुम रहे हैं.

जबकि यदि लोकपाल होता तो ऐसे नेता जेल में नजर आते. केजरीवाल ने कहा कि जिन मंत्रियों पर भ्रष्टïचार का आरोप हैं अगले आने वाले चुनाव में उनकी जमानत जब्त होनी चाहिए. अन्ना ने कहा कि कुछ लोग कह रहे हैं कि जंतर-मंतर पर भीड़ नहीं है ऐसे लोगों के पास दरअसल नजर ही नहीं है. उन्होंने जैसा चश्मा पहना है, चीजें भी वैसी ही दिख रही हैं.

Related Posts: