गांवों में श्मशान घाट और स्वास्थ्य सुविधाएं एनजीओ को सौंपे : गडकरी

भोपाल,18 नवंबर.नभासं.भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी ने आज स्वैच्छिक संगठनों का आव्हान किया कि वह सेवा कार्यो को जारी रखते हुएशिक्षा विकास एवं संस्कारों पर केन्दित कार्य करें ताकि समाज का कल्याण हो सके.

गडकरी जंबूरी मैदान के पास शासकीय महात्मा गांधी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बरखेड़ा के मैदान में मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद द्वारा आयोजित स्वैच्छिक संगठनों के संवाद 2011 के कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान,भाजपा प्रदेश अध्यक्ष प्रभात झा,वित्त मंत्री राघवजी, राज्यसभा सदस्य अनिल दवे और परिषद के उपाध्यक्ष प्रदीप पांडे एवं अजय शंकर मेहता उपस्थित थे.

गडकरी ने कहा कि स्वैच्छिक संगठनो के प्रयासों से ग्रामीण क्षेत्र की बेरोजगारी और गरीबी की समस्या दूर हो सकती है. उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास में प्रौद्योगिकी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है.

संवेदनशीलता भी हो- गडकरी ने कहा कि कुछ कर दिखाने खातिर संवेदनशील बनें जिससे कि आप कुछ कर सकें तो आपके सामने दुनिया झुकेगी.
गांवों में पेट्रो उत्पादन संभव- गडकरी ने साफ शब्दों में कहा कि गांवों में पेट्रोल और डीजल का उत्पादन किया जा सकता है. इसी प्रकार सौर एवं पवन ऊर्जा का भी उपयोग सही तरीके से किया जा सकता है.उन्होंने इस संबंध में स्वयं के द्वारा जैव ईधन सौर ऊर्जा और उद्योग उपक्रम में किये गए कार्यो का हवाला भी दिया. गडकरी ने लंदन के दौरे का जिक्र करते हुए कहा कि वहां के जन्रप्रतिनिधियों ने चर्चा के दौरान भारत के भविष्य को उज्जवल बताया है. लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि हमारे देश में लोग ऐसा नही सोचते है. उन्होंने कहा कि भारतीय डॉक्टर्स, इंजीनियर्स और प्रोफेशनल्स विदेशों में महत्वपूर्ण पदो पर काम कर रहे है.

राज्य की नीति सही- गडकरी ने स्वयंसेवी संगठनों के लिए राज्य में सरकार की तरफ से किए जा रहे कामों और उसकी तैयारियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि राजनीति को सामाजिक एवं आर्थिक बदलाव का एक माध्यम होना चाहिए. उन्होंने कहा कि राजनीति में सिर्फ सत्ता प्राप्त करने की धारणा को बदलने की आवश्यकता है.उन्होंने मुख्यमंत्री चौहान से अनुरोध किया कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रो में श्मशान घाट और स्वास्थ्य सुविधाओं की जिम्मेदारी बेहतर कार्य करने वाले स्वैच्छिक संगठनों को सौपे. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि प्रदेश के सभी 53 हजार गांवो में जन अभियान परिषद की प्रस्फुटन समितियां तैयार हो. उन्होंने स्वैच्छिक संगठनों से आव्हान किया कि वह गांवों में आम जनता को सरकार की योजनाओं के प्रति जागरूक करे.मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार जन अभियान परिषद को कल्याणकारी योजनाओं के प्रभाव का आकंलन करने की जिम्मेदारी सौपेगी.

एनजीओ संभालें काम
सरकारी मशीनरी के कई बार ढुलमुल रवैये से बचने का रास्ता दिखाते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि समय आ गया है जबकि शिक्षा व स्वाव्थ्य के क्षेत्र में एनजीओ के लोगों को काम का दायित्व सौंप कर वहां कि कमियों को दूर करना चाहिए.

Related Posts: