संयुक्त राष्ट्र्, 20 अप्रैल. चीन ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय का आह्वान किया है कि सभी को अंतरराष्ट्रीय परमाणु अप्रसार, परमाणु नि:शस्त्रीकरण और परमाणु सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए मिलकर काम करना चाहिए. चीन का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब गुरुवार को भारत ने लम्बी दूरी तक मार करने वाली परमाणु सक्षम बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 का सफल परीक्षण किया है.

संयुक्त राष्ट्र में चीन के स्थायी प्रतिनिधि ली बाओदांग ने परमाणु अप्रसार पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की एक खुली बैठक में कहा, अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इस सम्बंध में अपना सहयोग और समन्वय बढ़ाने तथा इस चुनौती का सामना करने के लिए एकजुट होने की जरूरत है. ली ने कहा, अंतरराष्ट्रीय परमाणु अप्रसार, परमाणु नि:शस्त्रीकरण और परमाणु सुरक्षा को अनवरत बढ़ावा देना अंतरराष्ट्रीय  शांति एवं सुरक्षा बनाए रखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है.  ली ने कहा, चीन इस सम्बंध में सुरक्षा परिषद की भूमिका का समर्थन करता है. ली ने हथियार नियंत्रण और परमाणु प्रसार के क्षेत्र में हुई कुछ सकारात्मक प्रगति को स्वीकार किया, लेकिन उन्होंने चिंता के विषयों को भी गिनाया. ली ने कहा, अंतरराष्ट्रीय  समुदाय के सामूहिक प्रयासों के कारण हथियार नियंत्रण और अप्रसार के क्षेत्रों में कुछ सकारात्मक प्रगति हुई है.

लेकिन यहीं पर परमाणु प्रसार का मुद्दा अभी भी गम्भीर बना हुआ है. परमाणु नि:शस्त्रीकरण के लिए अभी बहुत कुछ करना बाकी है. परमाणु सुरक्षा की स्थिति गम्भीर बनी हुई है.” ली ने कहा, “चीन का मानना है कि अंतरराष्ट्रीय शांति एवं स्थिरता बनाए रखने के लिए, दुनिया में व्यापक सुरक्षा सुनिश्चित कराने के लिए, हमें आपसी विश्वास, आपसी लाभ, बराबरी, और समन्वय पर आधारित सुरक्षा के एक नए सिद्धांत को कायम करना होगा.”

Related Posts: