पुलिस ने टीन शेड पर भांजी लाठियां, हरिप्रसाद, दिग्विजय और भूरिया ने की लाठीचार्ज की कड़ी निंदा

भोपाल,16 अक्टूबर. भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी की जनचेतना यात्रा के आज राजधानी पहुंचने पर यहां कांग्रेस ने विरोध किया.कांग्रेस रथ यात्रा में सरकारी धन के बेजा इस्तेमाल का विरोध कर रही थी.इसके लिए कांग्रेस ने धरना, गिरफ्तारी, काले झंडे दिखाना और मौन प्रदर्र्शन के मानव श्रृंखला बनाने तथा नारेबाजी का जबर्दस्त तरीका ढूंढा था .

कांग्रेस ने आडवाणी की इस रथ यात्रा को भ्रष्टाचार को प्रोत्साहित और सम्मानित करने वाली रथ यात्रा बताते हुए कहा कि उनकी यह  रथ यात्रा प्रधान मंत्री पद के दावेदार भाजपा नेता नरेन्द्र मोदी, सुषमा स्वराज और अरूण जेटली आदि से आडवाणी को बड़ा सिद्ध करने के उद्देष्य से आयोजित की गई है. कांग्रेस द्वारा रथ यात्रा का कड़ा विरोध करते हुए सुबह म.प्र. महिला कांग्रेस द्वारा विरोध प्रदर्शर्नन हुआ. इसके बाद जिला कांग्रेस कमेटी (शहर) और (ग्रामीण) द्वारा माता मंदिर के पास धरना एवं आम सभा का आयोजन हुआ. सभा को शहर एवं ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष पी.सी. शर्मा एवं अवनीश भार्गव, पूर्व महापौर विभा पटेल,मानक अग्रवाल दीप्तिसिंह, पूर्व महापौर दीपचंद यादव, शहर जिला कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष जहीर अहमद नगर निगम के अध्यक्ष कैलाश मिश्रा, जे.पी. धनोपिया आदि ने भी संबोधित किया.

जब आम सभा के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता, आडवाणी, शिवराज और रथ यात्रा विरोधी नारे लगाते हुए रथ यात्रा के मार्ग की ओर आडवाणी को ज्ञापन देने के लिए आगे बढ़ा.तो कुछ ही दूर आगे बढ़ा था कि जिला प्रशासन ने पुलिस की गाडिय़ां सड़क पर खड़ी करके रास्ता रोक दिया, लेकिन जैसे-तैसे आगे बढ़े, तो पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज किया, जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मानक अग्रवाल सहित कई कांग्रेसजन घायल हुए हैं. अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पुलिस की गाडिय़ां रास्ते में खड़ी कर दुबारा जैन मंदिर के सामने (टीन शेड) पर पुन: रोका गया. यहां एडीएम बसंत कुर्रे और एसडीएम उमाशंकर भार्गव के साथ भारी पुलिस बल ने पूरी तरह रास्ता बंद कर दिया था. यहां से रथ यात्रा का मार्ग मात्र आधा किलोमीटर दूर था. किसी भी दशा में आगे बढऩा संभव न जानकर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष पी.सी. शर्मा ने गिरफ्तारियां देने का फैसला लिया. गिरफ्तारी देने के पूर्व पी.सी. शर्मा ने जैन मंदिर के सामने बनी सीढिय़ों पर खड़े होकर वहीं ज्ञापन पढ़ा, जो लालकृष्ण आडवाणी को देने के लिए तैयार किया गया था. जबकि जिला प्रशासन ने गिरफ्तार कांग्रेसियों को दोपहर में अहमद नगर, रातीबड़ आदि दूरस्थ स्थानों पर छोड़ दिया.

महिला कांग्रेस द्वारा विरोध प्रदर्शन
म.प्र. महिला कांग्रेस द्वारा अध्यक्ष श्रीमती अर्चना जायसवाल के नेतृत्व में रथ यात्रा का काली पट्टी बांधकर, मौन प्रदर्र्शन एवं मानव श्रृंखला बनाकर अवंती बाई चौराहा, माता मंदिर पर विरोध किया गया. इस अवसर पर श्रीमती जायसवाल ने कहा कि उनकी पार्टी जब सत्ता के चरम पर थी तब भी उनका दल एवं केंद्रीय मंत्रि-मंडल भ्रष्टाचार में डूबा हुआ था. तब उन्होंने भ्रष्टाचार के विरूद्ध कार्यवाही की बात नहीं की. मध्यप्रदेष, कर्नाटक और छत्तीसगढ़ राज्यों के भ्रष्ट मंत्री नेताओं एवं कार्यकर्ताओं पर कार्यवाही क्यों नहीं करते हैं. आडवाणी की रथ यात्रा जब दोपहर बाद लिंक रोड नं. 1, पर प्रदेश कांग्रेस भवन के सामने से गुजरी, तो म.प्र. महिला कांग्रेस ने अर्चना जायसवाल के नेतृत्व में यहां भी रथ यात्रा का विभिन्न तरीकों से विरोध किया. पहले तो इछावर की महिला कार्यकर्ताओं ने उषासिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेष कांग्रेस कार्यालय के भवन की छत से करीब 10 फीट लंबा काला झंडा आडवाणी को दिखाया. इसी के साथ महिला कांग्रेस की जिला (ग्रामीण) अध्यक्ष प्रतिभा तोमर, डॉ. तनिमा दत्ता, प्रतिभा विक्टर, करूणा शर्मा और पूर्णिमासिंह सहित कई पदाधिकारियों ने प्रदेश कांग्रेस भवन परिसर की चहार दीवारी पर चढ़कर काले झंडे दिखाए जो पुलिस वालों ने बलपूर्वक छीन लिये.

पुलिस लाठीचार्ज की निंदा
प्रदेश प्रभारी बी.के. हरिप्रसाद, राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजयसिंह और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ने आज भोपाल में भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी की रथ यात्रा का शांतिपूर्ण विरोध कर रहे कांग्रेस पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं पर पुलिस द्वारा किये गये लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निंदा की है.

Related Posts: