भालू के आतंक से ग्रामीण दहशत में,  दो ग्रामीणों को किया घायल

बैरागढ़ 27 जुलाई (संवाददाता) गांधीनगर के समीप ग्राम मुबारकपुर में भालू के दहशत से ग्रामीण परेशान है. पिछले दो सप्ताह से भालू ने एयरपोर्ट क्षेत्र में आतंक मचा रखा है.गुरुवार को उसे खदेड़ा और वह होली फेमिली स्कूल के सामने एक जंगल में छुप गया.

ग्रामीणों ने उसको भगाने की कोशिश की तो उसने दो लोगो को घायल कर दिया और वह जंगल में दुबारा छुप गया. ग्रामीणो ने चार बजे भालू की सूचना स्थानीय पुलिस व वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को दी थी. जिससे कि वन विभाग की टीम करीब 7.00 बजे होली फेमिली स्कूल के सामने पहुंची. जहां वन्य प्राणी रेस्क्यू वाहन भी शामिल था. उसको पकडने के लिये दो टीमों का गठन किया गया ग्रामीणो की मदद भी ली गई लेकिन रात्रि 9 बजे तक भालू पकड़ से बाहर था. उधर वन विभाग के सीएफओ को जैसे ही सूचना मिली वे तुरंत घटना स्थल पहुंचे. जहां उन्होने वन विभाग के कर्मचारियों को टीम बनाने के निर्देश दिये लेकिन भालू कही नहीं मिला. पत्रकारो को जानकारी देते हुये सीएफओ ने बताया कि शुक्रवार को भी वन विभाग की टीम भालू को पकडने के लिये तैनात रहेगी.

उन्होने बताया कि वह किसी जंगल में भटककर वह एयरपोर्ट क्षेत्र में घूम रहा है वह काफी दहशत में है एवं काफी घबराया हुआ है. लेकिन ग्रामीण भालू के आतंक से काफी भयभीत है। उधर सोनू कुशवाहा को भी भालू ने घायल किया जिसका उपचार बैरागढ सिविल अस्पताल में चल रहा है। भालू की सूचना मिलते ही बडी ंसख्या में ग्रामीण हाथों में लाठियां व हथियार लिये उसको पकडने व मारने के लिये दौड पडे थे रात्रि 9 बजे तक भालू का कही भी अता पता नहीं चला। वन विभाग के अधिकारियों का कहना था कि भालू लोगो को देखकर किसी रास्ते से निकल गया होगा। फिलहाल वन विभाग की टीम उसको पकडने के लिये पूरी कोशिश में जुटी हुई है।

एक सप्ताह पहले एयरपोर्ट क्षेत्र में था भालू-जानकारी के अनुसार एक सप्ताह से एयरपोर्ट क्षेत्र में भालू ने आतंक मचाया हुआ है हालांकि वन विभाग की टीम ने एयरपोर्ट क्षेत्र की बाउंड्री के पास दो पिंजरे भी लगाये हुये है जिससे कि वह किसी तरह इन पिंजरो में केद हो जाये ओर लोगो को भालू के आतंक से छुटकारा मिले लेकिन ऐसा नही हो पा रहा है वह अपनी गतिविधियां एयरपोर्ट क्षेत्र से लगे गांवो में रखे हुये है. उधर ग्रामीणो का कहना है कि वन विभाग के चलते हुये भालू अपना आतंक मचाये हुये है कभी भी बडी दुर्घटना घट सकती है.

ग्रामीणो का कहना:-ग्रामीणों ने प्रतिनिधि को बताया कि वन विभाग की लापरवाही की वजह से ग्रामीण क्षेत्र में अपने गतिविधियां रखे हुये है इससे ग्रामीण काफी परेशान है वैसे भी ग्रामीण क्षेत्र में बिजली की कटौती है और अधिकतर लोग अपने घरो के बाहर सोते है. भेरुसिंह कुशवाहा ने बताया कि गुरुवार को शाम 4 बजे खेत मे भालू बैठा हुआ था हम सबने हथियारो से पीछा किया तो वह घने जंगल में छिप गया. वन विभाग के अधिकारियों को कोई सख्त कार्यवाही करना चाहिये. जिससे कि ग्रामीण उसके भय से मुक्त हो सके.

Related Posts: