शिकायतों के चलते इंदौर लोकायुक्त ने की कार्रवाई

बुरहानपुर, 22 मई. जिले में बढते भ्रष्टाचार के मामले और उसकी लोकायुक्त शिकायतों के चलते जिले में मंगलवार 22 मई को इन्दौर लोकायुक्त पुलिस के डीएसपी एस.एल. कटारिया द्वार दल बल के साथ एक सप्ताह में दुसरी कार्यवाही करते हुए बुरहानपुर जिले के नये कलेक्टोरेट भवन निर्माण में ठेकेदार से बिल के एवज में दो लाख रूपये की रिश्वत लेते दोपहर 12.15 बजे रंगे हाथों गिरफ्तार किया.

लोकायुक्त डीएसपी श्री कटारिया ने बताया कि बुरहानपुर नवीन कलेक्टर भवन निर्माणकर्ता ठेकेदार गिरीश गुप्ता द्वारा 17 मई 2012  को एक शिकायत की थी जिसमें 5.98 करोड़ के नवनिर्मित कलेक्टर भवन के शेष 98 लाख लगभग के पेमेंट में से 30 लाख के बिल को लेकर 3 लाख रूपयों की मांग की थी जो 2 लाख में तय हुई थी. रिश्वत मांगने वाले आरोपी उपयंत्री दिलीप महाजन को रंगे हाथ दो लाख रूपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया.

लोकायुक्त दल में डीएसपी एस.एल.कटारिया सहित सिनियर इंस्पेक्टर सतीश मिश्रा, व्ही.डी.पांडे एवं अनिलसिंह चौहान सहित दो गजटेड ऑफीसर व 4 आरक्षक साथ थे. जिले में लोकायुक्त पुलिस इन्दौर द्वारा कि गई दुसरी रिश्वत मामले में कार्यवाही से भ्रष्ट अधिकारियों पर लगाम लग पायेगी. सुत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार लोकायुक्त पुलिस इन्दौर के पास और भी कई शिकायतें है और वे अपनी कार्यवाही की निरंतरता को जारी रखेंगे. शिकायतकर्ता गिरीश गुप्ता ने बताया कि समय पर पेमेंट भुगतान नही होने के कारण कलेक्टर कार्यालय निर्माण का कार्य धीमी गति से चल रहा है पेमेंट समय पर मिले तब 3 माह में कलेक्टर कार्यालय कम्पलीट हो जाएगा.

Related Posts: