प्रदेश विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव के जवाब में सत्ता पक्ष ने विपक्ष पर साधा निशाना

भोपाल, 29 नवंबर, नभासं. राज्य विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चल रही चर्चा के दूसरे दिन सत्तापक्ष की ओर से नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह पर निशाना साधा गया. वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और मंत्रियों पर लगे आरोपों का बचाव भी किया गया. चली चर्चा में आरोप-प्रत्यारोप के बीच दो बार हंगामे की स्थिति भी बनी. एक बार उद्योग मंत्री कैलाश विजयवर्गीय की टिप्पणी पर हंगामा हुआ तो दूसरी बार कांग्रेस विधायक डॉ. कल्पना परूलेकर को बोलने से रोका गया तो कांग्रेस सदस्यों ने गर्भगृह में जाकर हंगामा किया. जवाब में सत्तापक्ष की ओर से भी नारेबाजी हुई. मंत्री बाबूलाल गौर, कैलाश विजयवर्गीय, नरोत्तम मिश्रा, गोपाल भार्गव भी बार-बार सरकार के बचाव में बोलने खड़े हुये.

परूलेकर के वक्तव्य के दौरान हंगामा

विधानसभा में आज राज्य सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस की तेजतर्रार विधायक कल्पना परूलेकर को अपनी बात रखने के लिए कुछ और समय देने की मांग को लेकर पार्टी सदस्यों ने अध्यक्ष के आसन के समक्ष पहुंचकर जमकर हंगामा किया. प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान देर शाम को हुए इस हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही लगभग दस मिनट के लिए व्यवधान आया.इस दौरान कांग्रेस सदस्यों ने राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. तो इसके जवाब में भाजपा के सदस्यों ने भी एकसाथ बोलना प्रारंभ कर दिया.लगभग 20 मिनट के भाषण के बाद अध्यक्ष ईश्वरदास रोहाणी ने  परूलेकर को यह कहते हुए आगे बोलने से रोक दिया कि उनका निर्धारित समय पूरा हो चुके लगभग दस मिनट तक यह नजारा दिखायी दिया. इस मामले का पटाक्षेप उस समय हुआ जब विपक्ष के उप नेता चतुर्वेदी ने अध्यक्ष के पास पहुंचकर हाथ जोडकर उनसे अतिरिक्त समय देने की मांग की.इसके बाद अध्यक्ष ने सुश्री परूलेकर को और बोलने की अनुमति प्रदान कर दी और कांग्रेस सदस्य वापस अपने स्थान पर लौट गए.

आज जवाब देंगे सीएम

भोपाल,29 नवंबर.नभासं. विधानसभा अध्यक्ष ईश्वरदास रोहाणी ने कांग्रेस द्वारा लाये गए अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए एक दिन और बढाते हुए आज कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपना जवाब चर्चा के बाद बुधवार को दोपहर बाद तीन बजे देंगे.  प्रस्ताव पर चर्चा के दूसरे दिन आज सदन में अध्यक्ष ने सदस्यों को समय सीमा के दायरे में भाषण पूरा करने की हिदायत दी.इस पर विपक्षी सदस्यों की आपत्ति के बाद  रोहाणी ने इस बारे में मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता अजय सिंह को स्वयं मिल कर समय सीमा तय करने को कहा. जिसके बाद दोनों की सहमति से अध्यक्ष ने घोषणा की कि कल भी प्रस्ताव पर चर्चा होगी और दोपहर तीन बजे मुख्यमंत्री अपना जवाब देंगे.  आसंदी से गोविंद राजपूत को समय सीमा में बात रखने का निर्देश दिया.इस पर कांग्रेस सदस्यों ने आपत्ति उठाई थी.कांगेस विधायक दल के उप नेता राकेश सिंह चतुर्वेदी ने कहा कि भाजपा सरकार के आठ वर्ष के कार्यकाल का पहला अविश्वास प्रस्ताव है इसलिए कांग्रेस सदस्यों को अपनी पूरी बात कहने का मौका दिया जाए.  अध्यक्ष ने कहा कि समय सीमा को तय करना आवश्यक है.अन्यथा सदन की कार्यवाही चलाना मुश्किल हो जायेगा. मुख्यमंत्री ने नेता प्रतिपक्ष के आग्रह को स्वीकार करते हुए कहा कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा एक दिन और आगे बढायी जाए.कल की चर्चा के मद्देनजर भोजन अवकाश रद्द करने का निर्णय भी लिया गया. तीन बजे से मुख्यमंत्री अपना जवाब प्रस्तुत करेंगे. इस सहमति के बाद अध्यक्ष ने इसके अनुसार चर्चा को कल तक के लिए बढा दिया.

बदनाम करने का षडयंत्र– नागेंद्र सिंह
विधानसभा में लोक निर्माण विभाग मंत्री नागेंद्र सिंह ने अवैध उत्खनन के मामलों में उनका नाम घसीटे जाने पर विपक्षी सदस्यों की आलोचना करते हुए कहा कि यदि अवैध उत्खनन में उनके परिवार का कोई नजदीकी संबंधी भी शामिल पाया गया तो उसके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई होगी. सिंह ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष ने उत्खनन को लेकर उन पर संरक्षण देने और उनके परिजनों की सहभागिता पर जो आरोप लगाए हैं.उसको वह प्रमाणित भी नहीं कर पाए. नेता प्रतिपक्ष ने असत्य आरोप लगाकर ऐसा प्रदर्शित किया. जैसे वह कोई खनिज माफिया हैं. मंत्री ने कहा कि उनके क्षेत्र में पत्थरों के अवैध उत्खनन की निरंतर शिकायतें मिल रही थीं. जिस पर उन्होंने पिछले वर्ष अगस्त में संबंधित अधिकारियों की बैठक ली और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए कहा. यह कार्रवाई आज भी चल रही है.सिंह ने कहा कि उनके परिवार के किसी भी सदस्य की फर्म को उचेहरा जनपद पंचायत द्वारा पौधे खरीदने के लिए 7.6 करोड रूपए का भुगतान नहीं किया गया.उनके परिवार के किसी भी सदस्य की ऐसी कोई फर्म नहीं है  जिसका नाम नेता प्रतिपक्ष ने लिया है.मंत्री ने कहा कि उन्हें कुछ पंचायतों द्वारा नियम विरूद्ध पौधे खरीदने की शिकायतें जरूर मिली हैं. जिन पर कार्रवाई चल रही है.

Related Posts: