लखनऊ, 3 मई. बुधवार को सुबह 9 बजे 5 कालीदास मार्ग पर मुख्यमंत्री आवास के बाहर हाथ में दरख्वास्त व मन में उम्मीदें लिए फरियादियों की कतार लंबी होने लगती है. तेज धूप से बेहाल लोग जल्दी सीएम आवास में दाखिल हो जाना चाहते हैं. महिलाओं की लाइन भी बेहद लंबी है.

बेहोश होकर गिरी महिलाएं
मुख्यमंत्री आवास में एंट्री की जरूरी प्रक्रिया की वजह से देर हो रही है. लेकिन इसी बीच एक बुजुर्ग महिला तेज गरमी बरदाश्त नहीं कर पाने की वजह से बेहोश होकर गिर पड़ती है. अफरातफरी फैलती है. इसी बीच वहां मौजूद पुलिस वाले उसे जल्दी ही अस्पताल पहुंचाते हैं. कुछ और महिलाएं गरमी से परेशान दिख रही हैं. उनके साथ आए लोग उन्हें संभालते हैं. कुछ महिलाओं को सिर पर पानी डालते भी देखा गया.

महिला बनी आकर्षण का केंद्र
इन सबके बीच एक अमेरिकी महिला की मौजूदगी सबके लिए उत्सुकता का केंद्र बनी हुई है. लोग एक दूसरे से जानना चाह रहे थे कि आखिरकार इसे मुख्यमंत्री से किस तरह की फरियाद करनी है. हाथ में बड़ा बैग जिसमें लैपटाप व हाथ में पानी की बोतल. जाय जायेस-काला चश्मा लगाए अमेरिकी महिला जनता दर्शन में सबके आकर्षण का केंद्र बनी हुई थी.

रिक्शे वालों की समस्याएं लेकर पहुंची
महिलाओं की कतार में लगी जायेस सीएम से मिलना चाहती हैं. वे अमेरिका से बिजनेस वीजा लेकर लखनऊ आई हैं. उनके पास पूरा प्रस्ताव है कि किस तरह यूपी के रिक्शेवालों को आधुनिक व सस्ते रिक्शे दिलाए जा सकते हैं. इससे रिक्शे वालों का अतिरिक्त श्रम नहीं करना पड़ेगा. वे एसएमवी व्हीलस प्राइवेट लिमिटेड की सलाहकार हैं. सीएम से मिलने की वजह और इस तरीके पर सवाल उठा तो बोलीं, यह तरीका ही मुझे ठीक लगा. मुख्यमंत्री से मिल कर न केवल उन्होंने अपना प्रस्ताव रखा बल्कि वाराणसी की खराब सड़कों व बिजली व्यवस्था के बारे में भी बताया.

प्रार्थना पत्र के निस्तारण में लापरवाही बर्दाश्त नहीं
मुख्यमंत्री ने कहा जनता दर्शन कार्यक्रम में लोगों की फरियाद सुनने के दौरान ही अफसरों से कहा कि यहां आने वाले प्रार्थना पत्रों के निस्तारण में लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी. फरियादियों को बताया जाए कि उनके मामले में क्या कार्रवाई की गई है.

Related Posts: