भाजपा ने लगाया आरोप

लखनऊ, 6 सितम्बर. भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार पर भ्रष्टाचारियों के नकेल कसने में असफल रहने का आरोप लगाते हुए कहा है कि यदि फरियादियों को उसी के जिले में न्याय मिल जाये तो मुख्यमंत्री के जनता दर्शन में इतनी भीड न हो.

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने आज यहां जारी एक बयान में कहा कि जनता दर्शन कार्यक्रम से आम आदमी को कोई लाभ नही होने वाला है क्योंकि कार्रवाई तो अधिकारियों को ही करनी है. उनका दावा है कि कुछ लोगों ने अपनी समस्याओं को लेकर तीन तीन बार मुख्यमंत्री से मुलाकात की लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के जनता दर्शन कार्यक्रम में फरियादियों की उमडी भीड से पता चलता है कि लोगों को जिलों में न्याय नहीं मिल रहा है और इसके पीछे मूल कारण भ्रष्टाचार ही है.

जनता दर्शन में आने वाली भीड सिद्ध करती है कि राज्य में भ्रष्टाचार का बोलबाला है. उन्होंने कहा कि जनता समस्याओं को लेकर परेशान है दूसरी ओर बिजली के दाम भी बढा दिये गये. उनका कहना था कि बिजली के दाम और विभिन्न वस्तुओं पर कर में वृद्धि करके समाजवादी पार्टी . सपा. सरकार लैपटाप और बेरोजगारी भत्ता देने जा रही है. राज्य सरकार का यह राजनीतिक चाल है. करों में वृद्धि करके लैपटाप तथा बेरोजगारी भत्ता देना शुद्धरुप से राजनीतिक कदम है. श्री पाठक ने कहा कि राज्य सरकार भ्रष्टाचार से लडने में गंभीर नहीं है. सपा ने अपने घोषणापत्र में कहा था कि मायावती सरकार के कार्यकाल में हुए कथित भ्रष्टाचार की जांच के लिए आयोग का गठन किया जायेगा लेकिन अभी तक ऐसा नही किया गया. इससे लगता है कि सरकार भ्रष्टाचार पर अंकुश के लिए गंभीर नहीं है.

उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय के आदेश पर थोडी बहुत कार्रवाई हुई है. पूर्ववर्ती बहुजन समाज पार्टी सरकार में हुए भ्रष्टाचार पर यह सरकार पर्दा डालने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि श्री अखिलेश यादव को भेजे उनके मंत्रिमंडल के वरिष्ठ मंत्री मो. आजम खान के पत्रों से स्पष्ट है कि मंत्रिमंडल में सब कुछ ठीक नही चल रहा है.

zp8497586rq

Related Posts: