लखनऊ, 28 मार्च. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पहल करते हुए राय सरकार की वेबसाइट पर अपनी संपत्ति का ब्योरा सार्वजनिक किया है.

ऐसा करके उन्होंने अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों के लिए नजीर पेश की है. अमूमन सियासत से जुड़ी शख्सियतें कानूनी बाध्यता के कारण चुनाव के लिए नामांकन पत्र के साथ दाखिल किए गए हलफनामे में ही अपनी संपत्ति का ब्योरा देने को मजबूर होती हैं. लेकिन मुख्यमंत्री ने इछा से संपत्ति जगजाहिर की है. वेबसाइट पर दी जानकारी के अनुसार अखिलेश यादव की कुल संपत्ति 4 करोड़, 83 लाख, 11 हजार 601 रुपये है, जबकि उन पर 15 लाख, 90 हजार रुपये की देनदारियां हैं.

उनके पास 98 लाख, 84 हजार 69 रुपये की अचल संपत्ति है, जिसमें इटावा में 17 लाख, 53 हजार 997 रुपये की कृषि भूमि, लखनऊ में 1-ए, विक्रमादित्य मार्ग स्थित संपत्ति में आधी हिस्सेदारी [कीमत 41 लाख, 63 हजार 647 रुपये], लखनऊ में ही 31/93 एमजी रोड स्थित 37 लाख, 55 हजार 425 रुपये की संपत्ति और फ्रेंडस कॉलोनी में 2 लाख, 11 हजार रुपये का प्लॉट शामिल है. अखिलेश के पास चल संपत्ति के रूप में एक पजेरो कार है, जिसकी कीमत 20 लाख, 16 हजार रुपये दर्शायी गई है.

जीवन बीमा, म्यूचुअल फंड, साधारण बीमा, आदि में उनका कुल निवेश 1 करोड, 8 लाख, 54 हजार 103 रुपये है. उनके पास 97,923 रुपये नकद हैं. जबकि विभिन्न बैंकों में 1 करोड़, 17 लाख 30 हजार 325 रुपये जमा हैं. एक दिलचस्प तथ्य भी है कि अखिलेश ने अपने परिवारीजनों, समाजवादी पार्टी, आदि को 1 करोड़, 37 लाख, 29 हजार 181 रुपये लोन व एडवांस के तौर पर दिए हैं. उन्होंने अपनी पत्नी डिंपल यादव को 22 लाख, 24 हजार 416 रुपये और भाई प्रतीक यादव को 1 करोड़, 11 लाख, 50 हजार रुपये व समाजवादी पार्टी को 1 लाख, 19,000 रुपये, अपने अविभाजित हिंदू परिवार को 1 लाख, 83 हजार 765 रुपये उधार दिए हैं.

Related Posts: