लखनऊ, 15 मार्च . खांटी गंवई स्वरूप में अभिजात्य छुअन लेकर नये तेवर-कलेवर के साथ अपने बलबूते उत्तर प्रदेश में पहली बार सत्ताशीर्ष पर पहुंची समाजवादी पार्टी  के युवा चेहरे अखिलेश यादव और उनकी मंत्रिपरिषद के सदस्यों ने गुरुवार को पद और गोपनीयता की शपथ ली.

राज्यपाल बीएल  जोशी ने महानगर स्थित ला मार्टीनियर कालेज मैदान में आयोजित भव्य समारोह में प्रदेश के सबसे युवा मुख्यमंत्री अखिलेश और उनके मंत्रिमण्डलीय सहयोगियों को पद और गोपनीयता का हलफ दिलाया. अखिलेश के साथ 19 मंत्रियों ने भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली. इनमें आजम खां, शिवपाल सिंह यादव, अहमद हसन, वकार अहमद शाह, राजा अरिदमन सिंह, आनंद सिंह, अम्बिका चौधरी, रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया, बलराम यादव, अवधेश प्रसाद, ओमप्रकाश सिंह, पारसनाथ यादव, रामगोविंद चौधरी, दुर्गाप्रसाद यादव, कामेश्वर उपाध्याय, राजाराम पाण्डेय, राजकिशोर सिंह, ब्रह्माशंकर त्रिपाठी तथा शिव कुमार बेरिया शामिल हैं. इसके साथ ही अखिलेश यादव सरकार के 29 राज्य मंत्रियों ने भी शपथ ली . सिडनी से इंजीनियरिंग में स्नातक 38 वर्षीय अखिलेश को सपा का चेहरा और चाल बदलकर उसे अभिजात्य का रंग दे उसे विधानसभा चुनाव में पहली बार स्पष्ट बहुमत दिलाने में बड़ी भूमिका निभाने का श्रेय दिया जा रहा है और इस नये सिलसिले को आगे बढ़ाने के लिये पार्टी आलाकमान ने सूबे की कमान भी उन्हें सौंपी है.

अखिलेश राज्य के ऐसे पहले मुख्यमंत्री हैं जिनके पिता मुलायम सिंह यादव भी इस पद पर आसीन रह चुके हैं. इस मौके पर 29 राज्यमंत्रियों ने भी पद और गोपनीयता की शपथ ली जिनमें इकबाल मसूद, महबूब अली, शाहिद मंजूर, रियाज अहमद, फरीद महफूज किदवाई, वसीम अहमद, नरेन्द्र सिंह यादव, शिवप्रताप यादव, मूलचंद चौहान, अरविंद गोप, भगवत शरण, राजीव कुमार सिंह, अभिषेक मिश्र, विनोद सिंह, नरेन्द्र वर्मा, राममूर्ति वर्मा आदि शामिल है. सुरेन्द्र पटेल, राजेन्द्र सिंह राणा, चितरंजन स्वरूप, मानपाल सिंह, कमाल अख्तर, शंखलाल मांझी, कैलाश चौरसिया, रामपाल राजवंशी, मनोज पारस, राममूर्ति, रामकरण आर्य, अरुणा कोरी तथा जगदीश सोनकर शामिल हैं.

Related Posts: