नई दिल्र्ली, 30 अक्टूबर.  नोट के बदले वोट मामले में आरोपी सपा के पूर्व महासचिव और राज्यसभा सदस्य अमर सिंह को रविवार को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान [एम्स] से छुट्टी मिल गई। अस्पताल से बाहर आते ही सिंह ने कहा कि वह सपा से जुड़े अपने अतीत को हमेशा के लिए भूलना चाहते हैं। अमर का गुर्दे संबंधी बीमारी का उपचार चल रहा है।

अस्पताल से बाहर निकलते समय अभिनेत्री और लोकसभा सदस्य जयाप्रदा उनके साथ थीं। अमर ने संवाददाताओं से कहा, कि मैं सभी लोगों से आग्रह करता हूं कि सपा के साथ मेरा नाम नहीं जोड़ा जाए। मैं सपा से जुड़े इतिहास को भूलना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि गुर्दे के प्रत्यारोपण के बाद से मैं उपचार के लिए सिंगापुर जाता रहा हूं। कुछ वक्त से मैं वहां जा नहीं पा रहा हूं। मैं सिंगापुर जाने के लिए अदालत से इजाजत मागूंगा। व्हील चेयर पर बैठे अमर ने कहा कि उनके मूत्र नली में संक्रमण हो गया था। अभी मैं इससे पूरी तरह उबर नहीं पाया हूं। मेरे बच्चे बुखार से पीडि़त हैं। चिकित्सकों ने मुझसे तीन नवंबर को जरूरत पडऩे पर दोबारा जांच कराने को कहा है।

अमर के गुर्दे में क्रिएटिनिन का स्तर बढ़ जाने के बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था। क्रिएटिनिन गुर्दे के काम करने की द्योतक होता है। इससे पहले एम्स के गुर्दा रोग विशेषज्ञ डॉक्टर संजय गुप्ता ने बताया कि अमर सिंह फिट हैं और उन्हें छुट्टी दे दी गई है। हमने आज सुबह उन्हें छुट्टी दी। डॉक्टर गुप्ता ही एम्स में 55 साल के एम्स का उपचार कर रहे थे। सिंह को वोट के बदले नोट मामले में बीते छह सितंबर को गिरफ्तार कर लिया गया था। मानवीय आधार पर अदालत ने 24 अक्टूबर को जमानत दे दी थी।

अमर को तिहाड़ जेल से 12 सितंबर को एम्स में भर्ती कराया गया था। सिंगापुर में गुर्दे का प्रत्यारोपण कराने वाले सिंह के गुर्दे में पिछले दिनों कुछ परेशानियां आ गई थीं। गुप्ता ने कहा कि उनकी हालत अब ठीक है। उनकी सेहत अब पहले से बेहतर है। जब उन्हें यहां लाया गया था तो उनके क्रिएटिनिन की मात्रा में उतार-चढ़ाव आ रहा था। इसके साथ ही उन्हें कुछ अन्य परेशानियां

Related Posts: