• सड़कों पर उतरी जनता

न्यूयॉर्क. 2 अक्टूबर. आर्थिक संकटों का सामना कर रहे अमेरिका में जनता बगावत पर उतर आई है. कॉरपोरेट जगत में फैले लालच और भ्रष्टाचार, ग्लोबल वॉर्मिंग और सामाजिक गैरबराबरी के खिलाफ सैकड़ों लोग न्यूयॉर्क की सड़कों पर उतर चुके हैं.

गुस्साई जनता ने ब्रूकलीन ब्रिज पर एक तरफ के ट्रैफिक को रोक दिया. इस बीच पुलिस से जनता की झड़प भी हुई. विरोध कर रहे लोग सड़कों पर उतर गए, जिससे पुल पर ट्रैफिक ठप हो गया. पुलिस ने 700 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया.

प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी के बाद पुलिसकर्मियों ने ब्रुकलिन पुल को यातायात के खोल दिया. ऑकुपाई वॉल स्ट्रीट मूवमेंट (वॉल स्ट्रीट पर कब्जा करो अभियान) नाम का यह प्रदर्शन न्यूयॉर्क में पिछले एक हफ्ते से हो रहा है. चश्मदीदों का कहना है कि ब्रूकलिन ब्रिज पर पुलिसकर्मियों ने जब प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार करना शुरू किया तो कुछ प्रदर्शनकारियों ने इसका विरोध किया, जिससे वहां अफरातफरी मच गई. विरोध प्रदर्शन मार्च मैनहेटन के पास से शुरू होकर ब्रूकलिन ब्रिज पर पहुंचा था. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि उनका लक्ष्य करीब 20 हजार लोगों को इस आंदोलन में शामिल करके वॉल स्ट्रीट पर बिस्तर, किचन और बैरीकेड लगाकर कॉरपोरेट जगत में फैले भ्रष्टाचार और लालच का विरोध करना है. विरोध कर रहे लोगों का कहना है कि वे वॉल स्ट्रीट पर कब्जा करना चाहते हैं।

अमेरिका ने दुनियाभर में जारी किया अलर्ट

वाशिंगटन 2 अक्टूबर. अलकायदा के नेता अनवर अल अवलाकी की यमन में एक ड्रोन हमले में हुई मौत का बदला लेने के लिए आतंकवादी दुनिया भर में अमेरिका विरोधी हमले तेज कर सकते हैं. इस देखते हुए अमेरिका ने अलर्ट जारी किया है.

विदेश विभाग ने विदेशों की यात्रा पर जाने वाले अपने नागरिकों के लिए कल अलर्ट जारी करते हुए एक बयान में कहा कि 30 सितंबर को अरब प्राय:द्वीप में अलकायदा के प्रमुख नेताओं के मारे जाने के बाद अमेरिकी नागरिकों के खिलाफ बदले की कार्रवाई किए जाने की आशका के चलते विदेश मंत्रालय अपने नागरिकों के लिए अलर्ट जारी करता है। यमनी नागरिक अवलाकी और अलकायदा के प्रचार में सक्रिय समीर खान 30 सितंबर को यमन में मारे गए। अवलाकी अरब प्राय:द्वीप में अलकायदा के विदेशी अभियानों का प्रभारी था। धाराप्रवाह अंग्रेजी में हिंसा की वकालत करने वाले अवलाकी की मौत से निकट भविष्य में अमेरिकियों और अमेरिकी प्रतिष्ठानों के खिलाफ हमले तेज हो सकते है. क्योंकि आतंकवादी उसकी मौत का बदला लेने की कोशिश करेंगे।
बयान के अनुसार, पूर्व में अवलाकी और एक्यूएपी के अन्य सदस्यों ने अमेरिका, अमेरिकी नागरिकों और अमेरिकी प्रतिष्ठानों के खिलाफ हमलों का आह्वान किया था. अल-अवलाकी कई अन्य आतंकवादियों सहित शुक्रवार को पूर्वी यमन में मारा गया था।

30 नवम्बर तक चौकसी
अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा जारी यात्रा अलर्ट में कहा गया है कि हिंसा समर्थक के रूप में अवलाकी की छवि, दुनिया भर में अमेरिका के खिलाफ प्रतिक्रियावादी हमले को भड़का सकती है। यह चेतावनी 30 नवम्बर तक प्रभावी रहेगी। अमेरिकी जांच एजेंसी, फेडरल ब्यूरो ऑफ इनवेस्टिगेशन (एफबीआई) और आतंरिक सुरक्षा विभाग ने भी अमेरिकी क्षेत्र में चरमवादियों के संभावित हमलों के बारे में चेतावनी जारी की है।

Related Posts: