• फरियादी पक्ष ने लगाए पुलिस पर निष्क्रियता के आरोप

गुना 4 अक्टूबर. फसल कटाई को लेकर दो परिवारों में हुआ विवाद इतना बड़ा कि एक पक्ष ने दूसरे पक्ष की सत्तर वर्षीय वृद्धा पर केरोसिन डालकर उसे आग के हवाले कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई. घटना आरोन थाने के तहत ग्राम देहरीकलां की बताई जाती है. वहीं पूरे मामले में पुलिस द्वारा समय पर कार्रवाई न करना मुख्य कारण बताया जा रहा है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक आरोन थाने के तहत ग्राम देहरीकलां में खेत में खड़ी फसल की कटाई को लेकर गांव के ही ढीमर एवं धाकड़ के बीच पूर्व से विवाद चल रहा है. सोमवार को करीब चार बजे आरोपियों ने धाकड़ परिवार के खेत पर पहुंचकर वहां रखी उड़द की फसल ले जाने की कोशिश की, जिस पर से दोनों पक्षों के बीच फिर विवाद हुआ. इसकी शिकायत भी 70 वर्षीय प्रेमबाई पत्नी सुखलाल धाकड़ ने आरोन थाने में की थी, लेकिन फरियादी पक्ष का आरोप है कि पुलिस ने शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की.

पुलिस की निष्क्रियता से बेखौफ हुआ आरोपी पक्ष करीब रात नौ बजे फिर से खेत पर पहुंचा और कटी फसल ट्राली में भरने लगा. जिसे रोकने पर आरोपियों ने 70 वर्षीय प्रेमबाई को केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया. जब तक वृद्धा के परिजनों को इसकी जानकारी मिलती तब तक महिला पूरी तरह जल चुकी थी और आरोपी फसल लेकर मौके से जा चुके थे. गांव में फैला आक्रोश: घटना के कारण रातभर में फैले रोष के बाद मंगलवार को सुबह एसपी केसी जैन दलबल सहित खुद मौके पर पहुंचे. बामुश्किल किसी प्रकार शांति बहाली कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. सुबह हंगामा बढ़ जाने की सूचना पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने पीडि़त पक्ष को आरोपियों के खिलाफ सक्षम कार्रवाई की समझाइश देते हुए शांत किया. तब कहीं जाकर महिला के शव का पोस्टमार्टम हुआ. फिलहाल स्थिति पर काबू पा लिया गया है.

राजस्व संबंधी था मामला: आरोन थाना एसओ जीसी शर्मा का कहना है कि यह विवाद राजस्व संबंधी था. जिस खेत को लेकर विवाद था, उसका सीमांकन तक नहीं हुआ था. वहीं 24 सितंबर को फरियादी पक्ष की ओर से शिकायत की गई थी, जिस पर से धारा 145 के तहत आरोपी पक्ष को प्रतिबंधात्मक नोटिस जारी किया गया था. चूंकि मामला राजस्व का था, तो पुलिस का इसमें अधिक हस्तक्षेप करना भी ठीक नहीं था. फरियादी पक्ष द्वारा पुलिस की निष्क्रियता संबंधी आरोप निराधार हैं. हत्या का मामला दर्ज: आरोन थाना एसओ जीसी शर्मा ने बताया कि इस घटनाक्रम के आरोपियों के खिलाफ धारा 302 तथा 147 के तहत प्रकरण दर्ज कर दिया गया है.

Related Posts: