अमृतसर, 1 जनवरी. अमृतसर में स्वर्ण मंदिर पहुंचे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी गुरशरण कौर को भ्रष्टाचार विरोधी गांधीवादी नेता अन्ना हजारे के समर्थकों ने रविवार को काले झंडे दिखाए.

प्रधानमंत्री और उनकी पत्नी जैसे ही स्वर्ण मंदिर से बाहर निकले महिलाओं समेत वहां एकत्र हजारे समर्थकों ने भ्रष्टचार के विरूद्ध और लोकपाल के समर्थन में नारे लगाए. समर्थकों ने प्रधानमंत्री वापस जाओ के नारे भी लगाए. उन्होंने मनमोहन सिंह को छोटे काले झंडे भी दिखाए. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने रविवार को स्वर्ण मंदिर में प्रार्थना कर नववर्ष 2012 की शुरुआत की. प्रधानमंत्री अपनी पत्नी गुरशरण कौर के साथ सुबह साढ़े छह बजे गुरुद्वारा पहुंचे. उन्होंने वहां प्रार्थना की और भजन सुने.

काले झंडे जनभावना के प्रतीक

समाजसेवी अन्ना हजारे के सहयोगियों ने अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर में मत्था टेकने पहुंचे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को काला झंडा दिखाने में किसी तरह की संलिप्तता से इंकार किया और कहा कि यह लोगों की स्वत: प्रतिक्रिया थी। अन्ना हजारे की सहयोगी शाजिया इल्मी ने कहा कि मैं नहीं समझती कि यह अन्ना हजारे की टीम की ओर से किया गया, बल्कि यह लोगों की भावनाओं एवं उनकी सोच को प्रतिबिम्बित करता है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि यह लोगों के मिजाज का परिणाम था, क्योंकि वे भ्रष्टाचार के खिलाफ कड़ा कानून चाहते हैं, जो नहीं बनाया जा रहा। इल्मी ने कहा कि प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्रियों और राजनीतिक दलों के नेताओं को आगे भी इस तरह की परिस्थितियों का सामना करना पड़ेगा। वह देश के प्रधानमंत्री हैं और जहां भी जाएंगे उनसे सवाल पूछे जाएंगे। इल्मी ने यह भी कहा कि आगामी रणनीतियों पर चर्चा के लिए अन्ना हजारे के सहयोगियों की बैठक जल्द ही होगी।

अन्ना बोले- जल्द ठीक हो जाऊंगा, चिंता मत करो

पुणे. पुणे के अस्पताल में भर्ती अन्ना हजारे ने देशवासियों को नए साल की शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने कहा कि उनकी सेहत पहले से बेहतर है. लेकिन अस्पताल के बिस्तर पर लेटे अन्ना हजारे को देखकर साफ लग रहा था कि वो पहले से काफी कमजोर हो गए हैं. अन्ना हजारे की सेहत में सुधार हो रहा है. लेकिन उनके सीने में इंफेक्शन अब भी बरकरार है. यही नहीं उन्हें लगातार खांसी हो रही है. इसके अलावा सेहत से जुड़ी कई दूसरी दिक्कतें भी सामने आ गई हैं.

Related Posts: