नई दिल्ली, 19 अक्टूबर. अन्ना हजारे के सहयोगियों पर हमलों के बाद उनकी जान को भी खतरे की आशंका है।

प्रशांत भूषण पर हमले के बाद अब अरविंद केजरीवाल पर लखनऊ में एक युवक ने चप्पल फेंका। हमला करने वाले ने अन्ना पर भी हमले की बात कही है।  टीम अन्ना के सदस्यों पर हमलों के बाद महाराष्ट्र सरकार अन्ना हजारे की सुरक्षा को लेकर चिंतित हो गई है।

सभी पार्टियों के नेता घोटालों में लिप्त : केजरीवाल

गोरखपुर, टीम अन्ना के अहम सदस्य और सामाजिक कार्यकर्ता अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि सभी राजनीतिक दलों के नेता घोटालों में लिप्त हैं.  केजरीवाल ने अपील की है कि चुनाव में अच्छे उम्मीदवार उतारें. लोकपाल बिल को लेकर केंद्र सरकार पर दबाव बनाए जाने की जरूरत है.  लोकपाल बिल शीत सत्र में पारित किया जाए. अगर आगामी सत्र में बिल नहीं पास होता है, तो इस बारे में जनता से फिर से अपील की जाएगी.

सूत्रों के हवाले से खबर है कि महाराष्ट्र सरकार की एक टीम अन्ना की सुरक्षा व्यवस्था का  जायजा लेने के लिए जल्द ही रालेगण सिद्धि आ सकती है। हालांकि इससे पहले अन्ना किसी तरह की सुरक्षा लेने से मना करते रहे हैं।  ऐसी खबरें भी हैं कि केंद्रीय गृह मंत्रालय को सामाजिक कार्यकर्ता की जान को खतरे से जुड़ी सूचना मिली है। खुफिया एजेंसियों की इस सूचना के बाद सरकार ने अन्ना की सुरक्षा की समीक्षा करने का फैसला किया है। केजरीवाल पर हमला करने वाले युवक जीतेंद्र पाठक ने कहा कि उसकी टीम अन्ना से कोई दुश्मनी नहीं है, लेकिन उसने टीम पर देश की सत्ता को बरगलाने का आरोप लगाया। उसने कहा अगर अन्ना हजारे भी ऐसी बात करें तो उनके साथ भी ऐसा किया जाना चाहिए।

केजरीवाल ने बुधवार सुबह अयोध्या में कहा कि पुलिस को उन पर हमला करने वाले युवक को छोड़ देना चाहिए। उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं को भी हिंसा का जवाब हिंसा से नहीं देने के लिए कहा। उन्होंने कहा, ‘ऐसी घटना के बाद हमारे कार्यकर्ता भी हमलावर पर टूट पड़े तो हम कौन से गांधीवादी रहे। उसे प्यार से समझाना चाहिए। हिंसा इसका समाधान नहीं है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में ऐसे कई हमले हो सकते है लेकिन अन्ना हजारे की तरह अपमान सहने की शक्ति होनी चाहिए। इन हमलों से अन्ना हजारे पर भी कोई फर्क नहीं पड़ता दिख रहा है। अपने गांव रालेगण सिद्धि में मौन व्रत कर रहे अन्ना ने व्रत खत्म होते ही लखनऊ जाने की इच्छा जताई है।

Related Posts: