अन्ना हजारे के गुणगान न करने की सलाह

नई दिल्ली, 16 अक्टूबर. कभी अन्ना हजारे के सहयोगी रहे स्वामी अग्निवेश ने टीम अन्ना के अहम सहयोगी अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है। अन्ना हजारे को संसद से ऊपर बताने वाले अरविंद केजरीवाल का नाम लिए बगैर अग्निवेश ने कहा कि जिन्होंने कहा है कि उनका नेता संसद से उपर है, उन्हें माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘संसद लोकतंत्र का मंदिर है, जो देश का प्रतिनिधत्व करती है। यहां तक कि यदि कुछ भ्रष्ट लोग भी वहां हो तब भी इसकी गरिमा के साथ खिलवाड़ नहीं किया जाना चाहिए। अग्निवेश ने इसके साथ ही टीम अन्ना के सदस्यों को ‘अन्ना भारत हैं और भारत अन्ना है जैसे नारों से बचने को कहा।

उन्होंने कहा कि पूजनीय बनाने की कोई कोशिश नहीं की जानी चाहिए और अन्ना के आंदोलन से जुड़े लोगों को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए। अग्निवेश ने कहा, ‘ उपासना एक तरह की तानाशाही है। यह एक तरह से संभ्रांतवादी है और ‘अन्ना भारत हैं और भारत अन्ना है जैसे नारों का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। आल इंडिया कन्फेडरेशन ऑफ एससी एसटी द्वारा आयोजित लोकपाल विधेयक पर चर्चा में भाग लेते हुए अग्निवेश ने कहा कि देश में व्यक्ति विशेष की उपासना के लिए कोई जगह नहीं है।  उन्होंने कहा कि हम यह कभी स्वीकार नहीं करेंगे कि एक व्यक्ति को ईश्वर या देश की तरह पेश किया जाए। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को भारत में शामिल करने के लिए सरकार को कदम उठाने चाहिए।

Related Posts: