पिछले डेढ़ माह से खराब है एम्बुलेंस

बिजावर, 31 मई. नससे. रानीताल के पास  बारातियों से भरी बस के पलटने से अस्पताल ले जाए गए घायल  तड़पते रहे.

आज सुबह बारात लेकर वापस आ रही बस पलटने के बारे में यात्रियों ने बताया कि बस चालक के पास बार-बार फोन आ रहे थे जिससे वह ठीक से गाड़ी नहीं चला पा रहा था. बताया गया कि बस को किसी और नम्बर में जाना था और इसके लिए देर हो रही थी. यही कारण है कि चालक ने बस की गति तेज कर दी थी. घटना के बाद से जब घायलों को स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भेजा गया तो यहां की स्वास्थ्य सेवाएं ठप पाई गईं.

चिकित्सकों द्वारा तत्काल उपचार देने में हीला हवाली की गई. बताया गया कि गंभीर रूप से घायलों को जब छतरपुर रैफर किया गया तो अस्पताल का एम्बूंलेंस ही बीमार पाया गया. इसकी खबर लगते ही एसडीएम ने अपनी और से निजी वाहनों के माध्यम से भेजने की व्यवस्था की. तहसीलदार भी पूरे समय मौजूद रहे. जिला चिकित्सालय में इलाज कराने आए घायलों ने बताया कि बिजावर अस्पताल में उन्हें इलाज के नाम पर तड़पाया गया. कोई पैर टूटने से कराह रहा था तो किसी के सिर पर गंभीर चोट थी. किसी के हाथ में गहरा घाव नजर आ रहा था तो कोई खून से लथपथ था. वहीं बस दुर्घटना के बारे में बताया गया कि मौके पर कई यात्री बस के नीचे दब गए थे जिन्हेंो लोगों की मदद से बाहर निकाला गया. यात्री बस को भी  लोगों की मदद से सीधी की गई. घटना के संबंध में मौके पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा बनाते हुए बस चालक के खिलाफ प्रकरण कयम किया है. वहीं मृतकों का पोस्ट मार्टम कराया जाकर शवों को उनके परिजनों  को सौंप दिया गया. मृतकों के घरों में मातम छाया हुआ है. प्रशासन ने आर्थिक मदद की बात कही  है.

Related Posts: