नई दिल्ली, 20 अप्रैल. टाट्रा ट्रक घोटाले के आरोपों की जांच में जुटी सीबीआई ने शुक्रवार को सेना प्रमुख जनरल वी. के. सिंह का बयान दर्ज किया. जनरल ने आरोप लगाया था कि उन्हें इस सौदे के लिए 14 करोड़ रुपये की घूस की पेशकश की गई थी.

जिस वक्त सीबीआई के अधिकारी आर्मी चीफ का बयान लेने साउथ ब्?लॉक में उनके दफ्तर पहुंचे, उस समय वह अपने दफ्तर में ही मौजूद थे.  सीबीआई टीम ने जनरल से करीब 2 घंटे बातचीत की है. सीबीआई ने 2 चरणों की बैठक में जनरल सिंह का बयान दर्ज किया. बताया जा रहा है कि उन्होंने सीबीआई को कई अहम जानकारियां दी हैं और सीबीआई को आश्वस्त किया है कि अगर उनके पास और सवाल होंगे तो उनका का भी जवाब देंगे. सूत्रों के अनुसार, आर्मी चीफ को सवालों की लिस्ट पहले ही भेज दी गई थी. उनसे यह भी पूछा गया कि करीब दो साल पहले हुई इस पेशकश के बाद उन्होंने क्या कदम उठाए थे. आर्मी चीफ से अपने आरोपों की पुष्टि के लिए कोई ठोस सबूत होने के बारे में भी पूछा गया. सूत्र ने कहा, च्जनरल सिंह से पूछा गया कि उन्होंने शिकायत करने में देरी क्यों की और दो साल बाद इसके बारे में क्यों बताया?ज् सीबीआई ने आर्मी चीफ के आरोपों के आधार पर अब तक इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं की है.

जांच एजेंसी मामला दर्ज करने से पहले सबूत इक_े करने के लिए शुरुआती जांच कर रही है. सूत्रों के अनुसार, जनरल सिंह ने पूर्व में सीबीआई को ठोस सबूत देने की बात कही थी, लेकिन पूछताछ तक उन्होंने जांच एजेंसी को ऐसा कोई दस्तावेज नहीं दिया था. आर्मी चीफ ने दावा किया था कि उन्होंने रिश्वत की पेशकश के बारे में रक्षा मंत्री ए.के. एंटनी को जानकारी दी थी. बाद में एंटनी ने भी माना था कि उन्हें ऐसी जानकारी मिली थी और उन्होंने जनरल को कार्रवाई करने को कहा था. गौरतलब है कि सेना प्रमुख जनरल वी.के. सिंह ने खुलासा किया था कि उन्हें सेना के लिए 600 घटिया वाहन खरीदने के बदले में 14 करोड़ रुपए घूस की पेशकश की गई थी.

Related Posts: