करीब 8 लाख के वाहन बरामद

भोपाल, 9 सितंबर. एमपी नगर पुलिस को वाहन चोरों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है. पुलिस ने करीब 8 लाख के वाहन जब्त किए हैं. मोटर साइकिल चोरी की वारदातों को देखते हुए एमपी नगर में एक टीम का गठन किया.

टीम द्वारा शातिर वाहन चोर समीर पुत्र इकबाल खां उम्र 19 साल नि. हनुमान मंदिर के पीछे कजरीखेड़ा भोपाल तथा इसका साथी आमिर पुत्र अकीलुद्ïदीन उम्र 17 साल नि. ग्राम माधव शाहपुर तहसील सांची जिला रायसेन को मुखबिर द्वारा प्राप्त सूचना के आधार पर मय चोरी के वाहन पल्सर मोटर साइकिल क्र. एमपी 04 एमएम 2197 गिरफ्तार कर हिकमतअमली से पूछताछ किए जाने पर थाना एमपी नगर , टीटी नगर, ऐशबाग, हबीबगंज एवं शहर के विभिन्न थाना क्षेत्रों से वाहन चोरी स्वीकार किया. जिनकी निशादेही पर 17 मोटर साइकिल वाहन विभिन्न कम्पनियों के आरोपी आमिर पुत्र अकीलुद्ïदीन के निवास स्थान ग्राम माधव शाहपुर तहसील संाची जिला जिला रायसेन से 3 मोटरसाइकिल वाहन एवं चांद शाह पिता कादर शाह उम्र 20 वर्ष नि. ग्राम थुआखेड़ा कोलार रोड भोपाल से 2 मोटरसाइकिल बरामद की गई. आरोपी समीर द्वारा एक मोसा. हीरो होण्डा स्पेलण्डर मंडीदीप निवासी पीलू पुुत्र गुलाब भोई उम्र 19 साल को बेचना बताया है.

आरोपी समीर के घर कजली खेड़ा से 4 मोटरसाइकिल वाहन एवं 1 मोसा. अनार सिंह नि. ग्राम धोलीउमर कोलार रोड भोपाल के घर से जो मौका पाकर भाग निकला, 1 चोरी की हीरो होण्डा बिना नंबर की मोसा. से आरोपी पीलू पुत्र गुलाब भोई उम्र 19 साल नि. शांति नगर मण्डीदीप रायसेन द्वारा कोलार थाना क्षेत्र में एक्सिडेंट करने पर थाना कोलार द्वारा जब्त की गई जो आरोपी पीलू द्वारा आरोपी समीर से खरीदना बताया है.

तथा अन्य मोटर साइकिल आरोपी समीर की निशादेही पर जब्त की गई. आरोपियों के कब्जे से कुल 17 मोसा. कीमत 8 लाख रुपए लगभग की बरामद की गई है. आरोपी समीर पूर्व में थाना शाहजहांनाबाद में वाहन चोरी के प्रकरण में गिरफ्तार हो चुका है. आरोपियों से जब्त 10 वाहनों में से थाना एमपी नगर में 7, टीटी नगर में 1, ऐशबाग में 1 तथा हबीबगंज में 1 वाहन चोरी का अपराध पंजीबद्घ है.

तरीका वारदात
आरोपी आमिर कक्षा दसवीं का छात्र है जो घर से कोचिंग में पढऩे के नाम से काला बैग कंधे पर टांगकर अपने साथी समीर के साथ एमपी नगर थाना क्षेत्र में घूमता फिर वहां बिना पार्किंग में खड़े वाहनों को वॉचकर मौका देखकर अपने मौजूद मास्टर चाबी को लगाकर हैंडल लॉक खोलकर तथा गाड़ी स्टार्ट कर वाहन चुराकर ले जाते थे. दोनों चोर शक्ल से छात्र जैसे दिखने के कारण आम जनता इन पर शक शुभा नहीं करती थी. आरोपियों द्वारा मोटरसाइकिलें अपने शौक पूरा करने के लिए चोरी करना बताया, आरोपियों द्वारा तीन-चार हजार रुपए में मोटर साइकिल बेचकर प्राप्त रुपयों से मटन मुर्गा व निम्ब तबके की लड़कियों को गाड़ी पर बैठाकर घुमाने फिराने तथा जुए में खर्च करना बताया.

Related Posts: