दो अमेरिकी सहित चार लोग मरे

पेशावर, 3 सितंबर. पाकिस्तान के अशांत पख्तूनखवा प्रांत की राजधानी पेशावर में आज आत्मघाती हमलावर ने अमेरिकी दूतावास के एक वाहन को निशाना बनाकर विस्फोट किया जिसमें दो अमेरिकियों सहित चार लोगों की मौत हो गयी तथा कुछ विदेशियों समेत 19 अन्य घायल हो गये.

हालांकि, अमेरिकी दूतावास ने इस बात से इंकार किया है कि आत्मघाती हमले में दो अमेरिकी मारे गये हैं. दूतावास के प्रवक्ता ने कहा कि उनके पास इस तरह की कोई सूचना नहीं है कि हमले में उसके नागरिक मारे गये हैं. प्रांत के सूचना मंत्री मियां इफ्तिखार ने बताया कि आत्मघाती कार हमले में दो अमेरिकी मारे गये हैं तथा दो अन्य अमेरिकी घायल हुए हैं. यह आतंकवादियों की खतरनाक कार्रवाई है. वे विदेशियों को भयभीत करना चाहते हैं. उन्होंने बताया कि 12 घायलों को पास स्थित खैबर टीचिंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है जिनमें कई विदेशी नागरिक तथा दो महिलाएं और दो बच्चे भी शामिल हैं. पेशावर के पुलिस प्रमुख इम्तियाज अल्ताफ बताया कि 10 मोर्टार राउंड समेत 110 किलोग्राम विस्फोटकों से लदी कार अमेरिकी दूतावास के उस वाहन से टकरा गयी जिसमें दूतावास कर्मी बैठे हुए थे.

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ताहिर अयूब ने बताया कि यह हमला यूनिवर्सिटी टाउन के अब्दारा मार्ग पर स्थित अमेरिकी दूतावास के कर्मियों और विदेशी सहायता संगठनों के कर्मचारियों के अति सुरक्षित रिहायशी इलाके के बिल्कुल पास हुआ. एक अन्य पुलिस अधिकारी उमर रियाज ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता लगा है कि हमलावर कार में सवार था और उसने इसे शरणार्थियों के लिए सयुंक्त राष्ट्र उच्चायोग के कार्यालय से करीब 25 मीटर की दूरी पर खडे वाहन से टकरा दिया. श्री रियाज ने कहा कि यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है कि विस्फोट रिमोट कंट्रोल से किया गया था या नहीं. उन्होंने बताया कि विस्फोट से सडक पर बहुत बडा गड्ढा हो गया तथा एक जीप और दो अन्य वाहन उड गये साथ ही सामने के चार घरों की चहारदीवारी नष्ट हो गयी.

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि विस्फोट इतना जबर्दस्त था कि उसकी आवाज कई किलोमीटर दूर तक सुनायी दी. सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी करके बचाव कार्य शुरू कर दिया है और मामले की जांच शुरू कर दी गयी है. पेशावर देश के अर्द्धस्वायत्त कबीलाई क्षेत्र के पास स्थित है. अफगानिस्तान की सीमा के पास स्थित यह इलाकi आतंकवादी संगठन अल कायदा और तालिबान का गढ माना जाता है. पिछले कुछ वर्षों में पेशावर में कई विस्फोट हुए हैं लेकिन अमेरिकी और विदेशी प्रतिष्ठानों पर हमला असाधारण घटना मानी जा रही है क्योंकि इन इलाकों का सुरक्षा बंदोबस्त बहुत सख्त है.

zp8497586rq

Related Posts: