भोपाल, 17 नवंबर. रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण की तर्ज पर रेलवे स्टेशनों के लिए भी एक प्राधिकरण बनाने की घोषणा की है। रेल मंत्री ने गुरुवार को हबीबगंज रेलवे स्टेशन का मुआयना करते समय कहा कि रेलवे स्टेशन प्राधिकरण के बारे में घोषणा पहले ही की जा चुकी है और इसके तहत रेलवे स्टेशनों में सारी आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।  उन्होंने कहा कि प्राधिकरण बनाने का काम उस वक्त से शुरू हो गया था, जबसे वह रेल मंत्री बने और बताया कि जल्द ही इसके अध्यक्ष और अन्य अधिकारियों के नामों की घोषणा कर दी जाएगी।

रेल मंत्री से जब यह पूछा गया कि क्या वे इसकी घोषणा अगले साल के रेल बजट में करेंगे, तो उन्होंने कहा कि हर बात के लिए रेलवे बजट के लिए रुकने का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया कि रेलवे विश्व स्तरीय स्टेशन बनाने पर काम कर रहा है, लेकिन कहा कि एक स्टेशन को विश्व स्तरीय तभी कहा जा सकता है, जब उसमें वो सब सुविधाएं हों जो कि एक आधुनिक हवाई अड्डे में होती हैं। एक विश्व स्तर के रेलवे स्टेशन में ब्यूटी फ्री दुकानें, पुस्तकालय, साफ कमरे और अच्छा होटल उपलब्ध होना चाहिए। त्रिवेदी ने कहा कि रेलवे के पास ऐसी बहुत सारी जमीन है, जिसे वह बेच नहीं सकती, लेकिन इन पर बड़ी कंपनियों के साझेदारी करके अच्छी-अच्छी परियोजनाएं लगाई जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि मुंबई, चेन्नई, नई दिल्ली, हावड़ा और बोरीविली जैसे रेलवे स्टेशन रेलवे के लिए सोने की खदान का काम कर सकते हैं। रेलवे में 14 लाख कर्मचारी हैं और रेलवे की किसी भी तरीके से सेना के साथ तुलना नहीं की जा सकती, क्योंकि सेना के मुकाबले रेल के कर्मचारी का संपर्क बहुत ज्यादा सामान्य आदमी से होता है।

त्रिवेदी ने कहा कि रेलवे की आमदनी बढ़ाने की बहुत सख्त जरूरत है, लेकिन यह काम सिर्फ किराया बढ़ाने से नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि हमको तो समुद्र की जरूरत है और किराया बढ़ाने से सिर्फ एक बूंद मिलेगी। जब उन्हें कहा गया कि मध्यप्रदेश में रेल नेटवर्क बहुत खराब है, तो उन्होंने कहा कि प्रदेश में हवाई नेटवर्क की हालत भी बहुत अच्छी नहीं है। त्रिवेदी ने कहा कि मध्यप्रदेश रेलवे को मुफ्त में जमीन देकर प्रदेश में रेल सुविधाओं के विस्तार के लिए साझेदार बन सकता है।

Related Posts: