आडवाणी ने दी कार्यकर्ताओं को नसीहत

नयी दिल्ली, 08 नवंबर, नससे. भाजपा के शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को नसीहत देते हुये आज कहा कि वे अहंकार से बचें और जो भी जिम्मेदारी मिले उसका सहज भाव से निर्वहन करें.

श्री आडवाणी अपने 85वें जन्मदिन पर स्वदेश द्वारा उनके व्यक्तित्व और विचार पर प्रकाशित संग्रह के विमोचन भाजपा नेताओं द्वारा की गई तारीफ से अत्यंत भावुक हो गये. श्री आडवाणी ने कहा कि वह अत्यंत सौभाग्यशाली है कि उन्हें अपने परिवार और संघ परिवार का भरपूर स्नेह मिला. यही उनकी सबसे बड़ी ताकत रही. उन्होंने कहा कि संभवत भारत ऐसा देश है. जहां कोई राजनीतिक पद हासिल करनेवाला इतना प्रभावी बन जाता है जितना दुनिया के किसी और देश में नहीं हो पाता. उन्होंने कार्यकर्ताओं को नसीहत देते हुये कहा कि राजनीति में कोई पद मिलने के बाद अहंकार आ जाता है लेकिन इससे बचना चाहिये. उसे अपनी जिम्मेदारी का सहज भाव और ईमानदारी से निर्वहन करना चाहिये. श्री आडवाणी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ गुजारे जीवन के संस्मरण सुनाते हुये कहा कि श्री वाजपेयी असाधारण वक्ता है और शुरू में तो वह उनके भाषण को सुनकर सोचते थे कि वह कभी भी राजनीतिक पद हासिल नहीं कर पायेंगे.

लेकिन श्री वाजपेयी के कारण ही वह पहली बार जनसंघ के अध्यक्ष बने थे. उन्होंने कहा कि वह कभी अच्छे वक्ता नहीं रहे. यही कारण है कि वह श्री वाजपेयी और श्रीमती स्वराज के भाषण के सामने छोटा महसूस करने लगते हैं. भ्रष्टाचार और काला धन के खिलाफ अपनी जनचेतना यात्रा के बारे में श्री आडवाणी ने कहा कि इससे पहले भी उन्होंने विभिन्न मुद्दों पर रथ यात्रा निकाली है लेकिन जनचेतना यात्रा को जितना भारी जनसमर्थन मिला है. उतना उनकी किसी और यात्रा को नहीं मिला. इस मौके पर श्रीमती स्वराज ने कहा कि श्री आडवाणी की निर्मल और निष्कलंक व्यक्ति की छवि है और वह भाजपा की पूंजी हैं. वह ऐसे नेता हैं जिनके दामन पर एक भी छींटा नहीं है. उन्होंने श्री आडवाणी के दीर्घायु होने की कामना करते हुये कहा कि भाजपा उनके नेतृत्व में आगे भी कदम बढाती रहेगी. वहीं राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष अरूण जेटली ने कहा कि श्री आडवाणी जो बात कहते हैं उसे तर्क से प्रमाणित भी कर देते हैं.

जनचेतना यात्रा सबसे सफल : शिवराज

नयी दिल्ली, 08 नवंबर, नससे. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने पार्टी के शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी को बधाई देते हुए कहा कि वे राजनीति के सात्विक कार्यकर्ता है. उन्होंने कहा कि आडवाणी की जनचेतना यात्रा देश में जनजागृति आई है. श्री चौहान ने कहा कि आडवाणी कुशल प्रशासक, श्रेष्ठï चिंतक और मानवीय संवेदनाओं से परिपूर्ण व्यक्तित्व के धनी व्यक्ति हैं. उन्होंने कहा कि आडवाणी रागद्वेष से परे धैर्यवान व्यक्ति है. वे स्वयं उत्साह से परिपूर्ण हैं और दूसरे व्यक्तियों में उत्साह का संचार करते हैं. उन्होंने कहा कि जनचेतना यात्रा को प्रदेश में व्यापक समर्थन मिला है.

Related Posts: