मैन ऑफ द सीरीज और मैन ऑफ द मैच भी मुंबई टीम के खिलाडिय़ों को

चेन्नई, 9 अक्टूबर. मध्यम गति के गेंदबाज राजू भटकल की अगुवाई में गेदबाजों के शानदार प्रदर्शन और बेहतरीन क्षेत्ररक्षण के दम पर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर ने चैंपियंस लीग ट्वंटी-20 टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में मुंबई इंडियंस को 139 रनों पर ही समेट दिया.

जवाब में मुंबई की टीम के गेंदबाजों ने बेंगलूर के बल्लेबाजों को मात्र 19.2 ओवर में 108 रन पर पूरी टीम को पैवेलियन भेज कर बेंगलूर के सपनों को चकनाचूर कर दिया. हरभजन सिंह ने क्रिस गैल, विराट कोहली और डेनियल विटोरी को पैवेलियन भेज कर बेंगलूर की कमर तोड़ दी. वहीं मलिंगा ने कसी हुई गेंदबाजी कर बेंगलूर को झटके दिये. क्रिस गैल मात्र 5 रन, विराट कोहली 11 रन बनाकर आउट हुये. बेंगलूर की तरफ से दिलशान ने जरूर 27 रन की पारी खेली लेकिन अन्य बल्लेबाज मुंबई के गेंदबाजों के सामने फ्लॉप हो गये. हरभजन सिंह ने तीन, लसिथ मलिंगा, अबु नेखिम और चहल ने दो-दो तथा पोलार्ड ने एक विकेट लिया. मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार हरभजन सिंह को तथा मैन ऑफ द सीरीज का अवार्ड मलिंगा को दिया गया.

जेम्स फ्रैंकलिन 41 रन की बढिय़ा बल्लेबाजी से मुंबई इंडियंस का स्कोर 14वें ओवर में एक समय तीन विकेट पर 105 रन था लेकिन इसके बाद 11 गेंद और चार रन के अंदर चार महत्वपूर्ण विकेट गंवाने से वह चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचने में नाकाम रहा. बेंगलूर की तरफ  से मध्यम गति के गेंदबाज भटकल ने 21 रन देकर तीन और बाएं हाथ के स्पिनर विटोरी ने 30 रन देकर दो विकेट लिए. पिछले दो मैच में खर्चीले साबित हुए डर्क नानेंस ने चार ओवर में 14 रन देकर एक विकेट लिया. मुंबई के तीन बल्लेबाज रन आउट हुए.

हरभजन सिंह ने जब टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया तो विटोरी ने सेमीफाइनल की तरह तिलकरत्ने दिलशान से गेंदबाजी का आगाज कराया. सरुल कंवर ने हालांकि उनके पहले ओवर में ही छक्का जड़ दिया लेकिन मुंबई की शुरुआत काफी खराब रही. पारी के दूसरे ओवर में ही एडेन ब्लिजार्ड (3) रन आउट हो गए जबकि नानेंस ने जल्द ही कंवर (13) को भी पवेलियन भेज दिया. फ्रैंकलिन को ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी के लिए भेजा गया और उन्होंने एस अरविंद के एक ओवर में छक्के सहित 13 रन बटोरकर शुरुआत की.

अंबाती रायडू (22) लगातार दूसरे मैच में अच्छी शुरुआत के बावजूद लंबा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे और सीमा रेखा पर कैच देकर पवेलियन लौटे. नए बल्लेबाज सूर्य कुमार यादव (24) ने भी विश्वसनीय शुरुआत की लेकिन उनके और फ्रैंकलिन के चार गेंद के अंदर रन आउट होने से मुंबई संकट में पड़ गया. मुंबई की मुश्किलें यहीं पर समाप्त नहीं हुई. कीरोन पोलार्ड (2) से टीम को काफी उम्मीद थी लेकिन यह कैरेबियाई बल्लेबाज विस्फोटक बनने से पहले ही विटोरी की गेंद हवा में लहराकर लांग आफ पर कैच दे गया जबकि इसी ओवर में हरभजन पगबाधा आउट हो गए.

लसिथ मलिंगा (16) ने विटोरी की गेंद पर छक्का जड़कर अपना खाता खोला और फिर अरविंद की गेंद भी छह रन के लिए भेजी. राजू भटकल ने हालांकि लगातार गेंद पर राजगोपाल सथीश (9) और मलिंगा को आउट करके मुंबई की रही सही उम्मीद भी समाप्त कर दी.

Related Posts: