भोपाल,29 मई,नभासं. किसानों से गेंहू खरीदने में बारदानों की कमी को लेकर सरकार और कांग्रेस नेताओं में ठन गई है.

राज्य में तीसरी बार भाजपा को सरकार बनाने से रोकने में जुटी कांग्रेस विधायक दल के नेता अजय सिंह राहुल ने समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद के दौरान बोरों की उपलब्धता को लेकर आम जनता को कथित रूप से गुमराह और केन्द्र सरकार को बदनाम करने के लिए सरकारी खर्च पर विज्ञापन जारी कर भ्रामक बयान देने के मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को नोटिस भेजा है . सिंह ने आज यहां जारी बयान में कहा कि गेहूं खरीदी में बोरों की उपलब्धता को लेकर मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार पर बोरे समय पर उपलब्ध नही कराने का आरोप लगाते हुए 30 अप्रैल को दिल्ली में धरना देने की चेतावनी दी थी.

इस संबंध में राज्य सरकार द्वारा मुख्यमंत्री की किसानों के नाम चिठ्ठी को सरकारी विज्ञापन के रूप में प्रकाशित करके यह बताने का प्रयास किया गया था कि बोरों की कमी के लिए केन्द्र सरकार जिम्मेदार है. उन्होंने कहा कि गेहूं के बोरों की उपलब्धता के बारे में केन्द्रीय खाद्य राज्य मंत्री वी.के. थामस ने मुख्यमंत्री को लिखी चिठ्ठी में वस्तुस्थिति स्पष्ट कर दी थी.उसी समय सिंह ने मुख्यमंत्री से गलतबयानी एवं गुमराह करने वाले विज्ञापन पर माफी मांगने और विज्ञापन पर व्यय राशि की पूर्ति करने की मांग की थी और ऐसा न करने पर कानूनी कार्यवाही करने की चेतावनी दी थी.

उन्होंने कहा कि उनकी मांग को नही मानने पर गत 26 मई को मुख्यमंत्री के अलावा खाद्य एवं नागारिक आपूर्ति विभाग के प्रमुख सचिव और आयुक्त को भी कानूनी नोटिस दिया गया है. इसमें इस सरकारी विज्ञापन में व्यय की राशि 30 दिन के अंदर सरकारी खजाने में जमा करने अन्यथा मुख्यमंत्री के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने की बात कही गई है.

Related Posts: