राहुल का कार्यकर्ताओं से वादा

अमेठी, 2 मई. अमेठी में कांग्रेस नेताओं के खिलाफ कार्यकर्ताओं की शिकायतों की बौछार के बीच पार्टी महासचिव राहुल गांधी ने वादा किया कि उत्तर प्रदेश के हालिया विधानसभा चुनाव में दल को नुकसान पहुंचाने वाले पार्टी नेताओं की पहचान करके उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा.

गत फरवरी-मार्च में संपन्न विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की पराजय के कारण तलाशने के लिए अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अमेठी पहुंचे राहुल ने खफा कार्यकर्ताओं का रुख भांप लिया. उन्होंने जोर देकर कहा कि प्रदेश में संगठन में आमूल-चूल बदलाव किए जाएंगे और सक्रिय, ईमानदार तथा समर्पित कार्यकर्ताओं को तरजीह मिलेगी. अमेठी संसदीय क्षेत्र के जगदीशपुर क्षेत्र में चुनाव नतीजों की समीक्षा बैठक में शामिल कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं की हौसला अफजाई भी की. उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता ही पार्टी की रीढ़ हैं और उनकी आवाज हर हाल में सुनी जाएगी.

उन्होंने आश्वासन दिया कि अमेठी जिले में सभी विकास कार्यो की हर तीन महीने पर समीक्षा की जाएगी. बिजली, पानी तथा सड़कों जैसी बुनियादी सुविधाओं से जुड़ी समस्याओं का निवारण प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा. कार्यकर्ताओं में जोश भरने की कोशिश करते हुए कांग्रेस सांसद ने कहा कि वे हताश नहीं हों. वर्ष 2014 में होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारी करें. कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक अमेठी संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के दायरे में आने वाले जगदीशपुर के अलावा अन्य विधानसभा क्षेत्रों में भी कार्यकर्ताओं की शिकायतें कमोबेश एक ही जैसी थीं. उनका कहना था कि उनकी कहीं भी सुनवाई नहीं होती और ग्रामीण इलाकों में विकास कार्यो की गति जरूरत के अनुरूप नहीं है. कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी से शिकायत की कि अपनी समस्याओं को लेकर आम आदमी आखिर किसके पास जाए.

खासकर क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए विशेष ध्यान नहीं दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि पार्टी के कुछ लोग निहित स्वार्थ के लिए काम कर रहे हैं. इससे कार्यकर्ताओं का मनोबल कमजोर हुआ है. उन्होंने कहा कि विकास कार्य अमेठी के कुछ हिस्सों तक ही सीमित हो गया है. राहुल को कार्यकर्ताओं की भावनाओं की कद्र करनी चाहिए. इस बीच, एक जूता फैक्ट्री के लिए हुए जमीन अधिग्रहण से प्रभावित किसानों ने राहुल का काफिला रोका और वादे के बावजूद उन्हें नौकरी नहीं दिए जाने की शिकायत की. इस पर राहुल ने दिल्ली जाकर कुछ करने का वादा किया.

Related Posts: