जिला प्रशासन इस मामले पर है मौन

बैरागढ़ 29 जुलाई (संवाददाता) संत हिरदाराम नगर स्थित वन ट्री हिल्स क्षेत्र में 1984 को राज्य सरकार द्वारा सिंधी विस्थापिता परिवार के सदस्यों को 100 भूखंड आवंटित किये गये थे जिसका पट्टा व रजिस्ट्री भी 1988 मे सिंधी विस्थापित के सदस्यो को मिल चुके थे लेकिन पिछले कुद वर्षो से इन भूखंडो पर अवेध झुग्गियों का कारोबार धडल्ले से चल रहा है.

इस वजह से सिंधी विस्थापित के सदस्य के परेशान हाल है. समिति द्वारा कई बार जिला प्रशासन व नगर निगम से मौके से कब्जा दिलाया जाने की मांग करते रहे है लेकिन 40-50 भूखंडो पर कुछ व्यक्तियो द्वारा कब्जा कर लिया है. भूखंडो की धनराशि सदस्यो द्वारा वर्षो पहले जमा कर ली गई थी इसके बाद भी भूखंडो पर कब्जा नामा आज तक नहीं मिला है. इस वजह से सिंधी विस्थापित सदस्यो को काफी परेशानी का सामना करना पड रहा है. पिछले चार – पांच सालों से वन ट्री हिल्स क्षेत्र में अवैध झुग्गियो का कार्य निरंतर जारी है लेकिन न तो जिला प्रशासन अतिक्रमण दास्ता आता है न ही नगर निगम व नजूल अधिकारी अवैध झुग्गियों को तोडने की हिम्मत जुटा पा रहा है इस वजह से कई भारी व्यक्ति भी झुग्गी बनाकर रह रहे है. इनका रिकार्ड न तो स्थानीय पुलिस के पास है न ही नजूल विभाग के पास.

इस वजह से वन ट्री हिल्स क्षेत्र में इन दिनो अवैध झुग्गियो का कारोबार बढ़ता जा रहा है. सिंधी पंचायत गांधीनगर के सचिव रमेश हिंगोरानी ने जारी विज्ञप्ति में मुख्यमंत्री को लिखे पत्र को इसका उल्लेख किया है कि जमीन का कब्जा दिलाया जाये और लीज की जो भी राशि समिति पर बकाया है वह सदस्य जमा करने के लिए तैयार है. हिगोरानी ने अपने पत्र में यह भी उल्लेख किया है कि जब शहर की हजारो झुग्गियो को हटाकर गांधीनगर में बसाया गया है. वही भोपाल विकास प्राधिकरण द्वारा गोदरमउ में सैकडो क्वार्टर, झुग्गी मुक्त आवास युक्त योजना के तहत बनाये गये है तब उन्हे वहां क्यों नहीं बसाया जा रहा है. बैरागढ के वन ट्री हिल्स में आये दिन झुग्गियो का कारोबार बढता ही जा रहा है इससे एक तो क्षेत्र के लोग परेशान है वहीं कई भारी तत्व भी इन झुग्गियो में निवास कर रहे है लेकिन जिला प्रशासन व नगर निगम बैखबर है. पिछले दिनों भी नगर निगम के अतिक्रमण मुहिम दस्ते ने बोरबंद क्षेत्र से करीब 40 झुग्गियो को तोडा था ये झुग्गियां भी तालाब के लिए खतरा बनी हुई थी.

Related Posts: