अजमेर, भंवरी देवी मामले ने राजस्थान की सियासत में तूफान खड़ा कर दिया है। इस मामले की जांच कर रही सीबीआई का मानना है कि बात सिर्फ एक सीडी तक नहीं सिमटी है, बल्कि भंवरी देवी ने ऐसी ही कई सीडी तैयार की थीं। अब सीबीआई ये पता लगाने में जुटी है कि इन सीडी के पीछे क्या मकसद था। कहीं भंवरी इनसे जुड़े लोगों को ब्लैकमेल तो नहीं कर रही थी। भंवरी के ड्राइवर फारूक की पूछताछ के बाद कुछ नामों की लिस्ट तैयार की गई, जिसे सीबीआई ने सीलबंद लिफाफे में जोधपुर हाईकोर्ट को सौंप दिया। अब सुनवाई 24 नवंबर को होनी है।

Related Posts: