छोटा पर्दा यानी टेलीविजन अब बड़ा होने जा रहा है. दरअसल बॉलीवुड के नामी फिल्म निर्माता विपुल अमृतलाल शाह, रितेश सिद्धवानी और संजय लीला भंसाली टेलीविजन शो लेकर आने की योजना बना रहे हैं. आमिर खान सत्यमेव जयते से छोटे पर्दे पर पहले ही खासी टीआरपी बटोर रहे हैं.

सत्यमेव जयते से दर्शक एक बार फिर से टीवी की ओर खींचे चले आए हैं, जो यह सोचकर टीवी नहीं देखते थे कि इसमें कुछ भी देखने लायक नहीं है. धारावाहिक में समाजिक मुद्दों पर बढिय़ा तरीके से शोध करने के बाद दिखाई जाने वाली सामग्री ने सबका दिल जीत लिया है. इससे पहले अमिताभ बच्चन, शाहरूख खान और सलमान खान जैसे बड़े स्टार्स भी छोटे पर्दे की पहुंच का अनुभव कर चुके हैं.

मौजूदा समय में लगातार बड़े प्रोड्क्शन हाउस टीवी की ओर कदम बढ़ा रहे हैं. लम्बे समय बाद टीवी पर वापसी करने वाले शाह ने कहा कि जब भी कोई मजबूत और शक्तिशाली प्लेटफॉर्म मिलता है, तो उस पर हर कोई काम करना चाहता है. शाह ने कहा कि मैं समझता हूं कि हर कोई मानता है कि टीवी एक मजबूत माध्यम है और बहुत तेजी से बढ़ रहा है. इसकी बढ़ती लोकप्रियता ही लोगों के बड़े पर्दे से टीवी की ओर आने का कारण है. बॉलीवुड में वक्त-द रेस अगेंस्ट टाइम और सिंह इज किंग जैसी फिल्मों से नाम कमाने वाले शाह वर्ष 1999 में आए टीवी धारावाहिक एक महल हो सपनों का से एक कामयाब पारी खेल चुके हैं.

भाई भईया ब्रदर धारावाहिक से निर्माता के तौर पर एक बार फिर से छोटे पर्दे पर वापसी करने वाले शाह की माने तो इस माध्यम के अपने सकारात्मक और नकारात्मक पहलू हैं. टीवी समय से बंधा हुआ है. चाहे जो कुछ भी हो, लेकिन आप अपनी तय समयसीमा को बदल नहीं सकते. इसलिए आपको बिना सोए 36-40 घंटों तक काम करना पड़ता है. दिल चाहता है, रॉक ऑन और जिंदगी ना मिलेगी दोबारा जैसी स्टाईलिश फिल्मों का निर्माण करने वाले सिद्धवानी भी अपने टीवी पर आने वाले नए गेम शो को लेकर बिल्कुल तैयार हैं. फरहान अख्तर उनके एक्सल एंटरटेंमेंट प्राइवेट लिमिटेड प्रोड्क्शन हाउस के सह-मालिक हैं.

सिद्धवानी ने बताया कि मैं नहीं समझता कि मैं और मेरी पीढ़ी का कोई भी व्यक्ति घर लौटने के बाद टीवी शो देखने के लिए उत्साहित होता है. टीवी की साम्रगी को लेकर खासी गुंजाइश है. इसलिए फराह और मैं एक शो की योजना बना रहे हैं, जो यह सब करने में सक्षम हो. हमारा उद्देश्य शो के जरिए नए दर्शकों को आकर्षित करना है. बॉलीवुड में हम दिल चुके सनम और देवदास जैसी फिल्मों से अपने कौशल की झलक दिखा चुके भंसाली ने कहा कि वर्तमान में टीवी बहुत शक्तिशाली माध्यम है और यह भविष्य में बहुत ताकतवर तरीके आगे बढ़ेगा. इसलिए मैं महसूस करता हूं कि मेरे काम के लिए जरूरी है कि वह लोगों के घरों तक पहुंचे.

Related Posts: