बीड़ी की तलब ने बनाया 2 युवक को हत्यारा

भोपाल, 20 सितंबर,  पिपलानी थाना क्षेत्र आनंद नगर रोड पर शालिगराम सोनी की कोल्डड्रिंक की दुकान पर काम करने वाले राकेश आर्य की 15 सितंबर को खून से लथपथ लाश मिली थी. इस हत्याकांड के दो हत्यारे युवकों को पुलिस ने पकड़ कर गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही हत्या करने में उपयोग में लाया ठोस पटिया भी बरामद कर लिया है.

यह बात मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनोहर वर्मा ने बताई. इस अवसर पर सीएसपी एच.एन. गुरु और पिपलानी थाना प्रभारी नाग्रेंद्र पटैरिया उपस्थित थे. वर्मा ने बताया कि इस मामले की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में विशेषज्ञ ने उल्लेख किया कि जो सिर पर चोटें आईं हैं वह गिरने से नहीं बल्कि ठोस पटिये या फिर डंडे से मारने के कारण आई हैं.

इस रिपोर्ट के उपरांत मामले की विवेचना के दौरान आसपास के लोगों से पूछताछ की गई तो पता चला कि घटना की रात्रि में मृतक राकेश के पास दो युवक बीड़ी मांगने गये थे. साथ ही इसी दिन सुबह से सोनू घर से कहीं चला गया था जिससे राहुल और उसका छोटे भाई का दोस्त खोजने निकले तो उन्हें सोनू हैंडपम्प आनंद पर मिल गया.

इसी बीच राहुल को बीड़ी पीने की तलब लगी तो वह बीड़ी मांगने मृतक राकेश के पास पहुंचे तो आरोपी राहुल ओड उर्फ जड्डा (22) पिता सरदार सिंह ओड निवासी बिलखिरिया तथा सोनू शर्मा उर्फ ललित शर्मा (19) पिता आनंद नगर निवासी का विवाद हो गया तो आरोपी सोनू ने मृतक राकेश को पकड़ा ओर मुख्य आरोपी राहुल के बाल मृतक राकेश ने जोरों से खींचे तो उसके बाल उखड़ गये. इसी आक्रोश में आकर राहुल ने मृतक के सिर पर ठोस लकड़ी के पटिये से प्राण घातक वार कर दिया जिससे राकेश की मौत हो गई. मृतक राकेश रोज काम-धंधा करने के बाद शराब पीकर शालिगराम की दुकान पर ही सोता था. इस घटना स्थल पर आरोपी राहुल के उखड़े बाल भी मिले थे.

उक्त अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में मुख्य भूमिका उप निरीक्षक व्ही.बी. टांडिया, सउनि गोविन्द सिंह, प्र.आर. रामकिंकर गुरु, आरक्षक रिपुसुदन बसंत, चंद्रशेखर तथा छोटेलाल ओझा की रही.

Related Posts:

पूर्व छात्रों का मिलन समारोह दिसम्बर में
विद्या बालन और महेश भट्ट कुछ समय रूके राजधानी में
राजधानी में रहेगा सेना का हेलीकॉप्टर तैयार
मध्यप्रदेश विधानसभा में लगातार दूसरे दिन किसानों के मुद्दे संबंधित स्थगन प्रस्ता...
नौ बजे से पहले नहीं शुरू होंगी प्रायमरी की कक्षाएं
टे्रवल्स संचालक खरीदता था चोरी का डीजल