लंदन,13 नवंबर. ब्रिटेन की जेल में असहज महसूस कर रहे पाकिस्तानी क्रिकेटर सलमान बट और मोहम्मद आसिफ स्पाट फिक्सिंग प्रकरण में मिली सजा अपने देश की जेल में काटना चाहते हैं.

धोखाधड़ी का षड्यंत्र रचने और गलत तरीके से पैसे लेने के दोषी पाए गए इन क्रिकेटरों ने मांग की है कि वे बाकी सजा काटने के लिए अपने देश लौटना चाहते हैं. पाकिस्तान के पूर्व टेस्ट कप्तान बट और तेज गेंदबाज आसिफ ने अपने वकीलों से कहा कि वे पाकिस्तान की जेल में भेजा जाना पसंद करेंगे क्योंकि यहां साथी कैदियों के बीच उनकी सुरक्षा को खतरा है. उनके उच्च न्यायालय में अगले आठ हफ्ते के भीतर याचिका दिए जाने की उम्मीद है. कैदी क्रिकेटरों को इस हफ्ते दक्षिण लंदन की वैंड्सवर्थ जेल से केंट की केंटरबरी जेल में स्थानांतरित किया गया.

केंटरबरी जेल में ब्रिटेन में सजा काट रहे विदेशी नागरिकों को रखा जाता है और कैदियों को सजा पूरी होने पर निर्वासित करके उनके देश वापस भेज दिया जाता है. बट और आसिफ को लगता है कि अगर अंत में उन्हें निर्वासित कर दिया जाएगा तो फिर उन्हें सजा भी उनके ही देश में काटने देनी चाहिए. एक ब्रिटिश पाकिस्तानी व्यवसायी दलावर चौधरी इस हफ्ते जेल में आसिफ से मिला और उन्होंने कहा कि जेल की सजा काट रहे खिलाड़ी खुद के सबकी नजरें का केंद्र बनने से खुश नहीं हैं. बट को स्पाट फिक्सिंग में शामिल होने के लिए 30 महीने जबकि आसिफ को एक साल की सजा सुनाई गई है. इस मामले में सजा कट रहे तीसरे पाकिस्तान क्रिकेटर 19 वर्षीय मोहम्मद आमिर को छह महीने के लिए युवा अपराधियों के सुधारगृह में भेजा गया है. बट के वकील इस पूर्व पाकिस्तानी कप्तान को मिली सजा के खिलाफ अपील करने वाले हैं. सूत्र ने कहा, च्वह जल्द से जल्द पाकिस्तान लौटना चाहता है लेकिन हम उसे मिली कड़ी सजा के खिलाफ भी अपील कर रहे हैं. हमारा मानना है कि यह काफी कड़ी सजा है.ज्

Related Posts: